'ऑड-ईवन से सांसदों को नहीं मिलेगी कोई छूट'

नई दिल्ली (25 अप्रैल) : दिल्ली में ऑड-ईवन में सांसदों को नियमों में छूट नहीं मिलेगी। दिल्ली के परिवह मंत्री गोपाल राय ने साफ कहा कि इस बार ऑड-ईवन 30 अप्रैल को खत्म हो रहा है। ऐसे में सिर्फ चार दिन बचे हैं। अब आखिरी समय पर सिर्फ सांसदों को छूट देने का सरकार को कोई विचार नहीं है। 

बता दें कि ऑड-ईवन का यह मामला आज संसद में गूंजा। संसद के ऊपर सदन राज्य सभा में गूंजा। कांग्रेस सांसद राजीव शुक्ला ने मुद्दा उठाते हुए सांसदों को नियम में छूट देने की बात कही। उधर, बीजेपी के कई सांसदों ने नियम का उल्लंधन किया। इनमें सांसद परेश रावल, अश्विनी मीणा शामिल थे। हालांकि, इन दोनों सांसदों ने अपनी गलती मान ली।

दरअसल, 15-30 अप्रैल तक दिल्ली में ऑड-ईवन लागू है। इसमें सासंदों की कारों के लिए किसी भी तरह की छूट का प्रावधान नहीं हैं। ऐसे में इस मुद्दे को राजीव शुक्ला और नरेश अग्रवाल ने संसद में उठाया और 'संसद सदस्य' का स्टीकर लगी गाड़ियों को नियमों से छूट देने की बात कही। 

बता दें कि आज 25 अप्रैल को दिल्ली में ऑड नंबर की कारों को ही चलने की इजाजत है। लेकिन कई बीजेपी सांसद ईवन नंबर की कार में सफर कर रहे थे। हालांकि, बाद में परेश रावल ने ट्वीट कर अपनी गलती मानी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और दिल्लीवासियों से माफी मांगी।

वहीं बीजेपी सांसद अश्विनी मीणा ने भी गलती मानी और चालान कटवाने की बाद कही। इसके अलावा बीजेपी सांसद उदित राज, फतेहपुर सीकरी के सांसद चौधरी बाबूलाल, दामोह से सांसद प्रह्लाद पटेल, बीसी खंडूरी, बीजेपी यूपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य भी ऑड-ईवन का नियम तोड़ते पाए गए।