First Night को नहीं बनाए संबंध तो पत्नी पहुंची...

बेंगलुरु : कहते हैं शादी दो परिवारों के साथ-साथ दो लोगों को ऐसा मिलन है जो विश्‍वास पर कायम रहता है। लेकिन  कर्नाटक हाईकोर्ट पति और पत्नी दोनों ने ही एक दूसरे के खिलाफ सेक्स न करने का आरोप लगाते हुए तलाक की अर्जी दे डाली।

हाई कोर्ट ने भी इस शादीशुदा जोड़े के तलाक को इसलिए मंजूरी दे दी, क्‍योंकि शादी के बाद उनके बीच में कभी संबंध ही नहीं बने थे। हाईकोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि यह केस किसी शारीरिक अक्षमता या किसी दूसरे कारण की वजह से सेक्स की असफलता का नहीं है। यह प्रथा है कि शादी के बाद पहले लड़के के घर पर और फिर लड़की के घर पर रिसेप्शन आयोजित किया जाता है।

आरोप है कि पत्नी ने शादी के बाद मैसूर शिफ्ट होने का वादा किया था लेकिन दो महीने बाद उसने कहा कि उसे ट्रांसफर नहीं मिल सकता। पत्नी ने आरोप लगाया है कि उसके परिवार की तरफ से पहली रात वाला समारोह (First Night) आयोजित किया गया था पर उसका पति समारोह में शामिल नहीं हुआ। अब हाईकोर्ट ने तलाक की मंजूरी दे दी है। पति मैसूर में एक उप-रजिस्ट्रार है, जबकि पत्नी शिवमोगा में एक सिस्टम ऐनलिस्ट है।