चीन के झूठ का पर्दाफाश, भारत ने डोकलाम से नहीं हटाए सैनिक

नई दिल्ली ( 3 अगस्त ): भारत ने चीन के उन दावों को खारिज कर दिया है, जिसमें ड्रैगन ने दावा किया गया है कि डोकलाम में भारतीय सैनिकों की संख्या में कमी कर दी गई है। भारत का कहना है कि सीमा पर स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है। सुरक्षा एजेंसी से जुड़े सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि जब डोकलाम में टकराव शुरु हुआ था तो करीब 350 भारतीय सैनिक वहां पर थे। इस संख्या में कोई बदलाव नहीं किया गया है। डोकलाम में यथास्थिति बनी हुई है। सैनिकों की संख्या में कोई कटौती नहीं की गई है।

गौरतलब है कि 15 पृष्ठ के दस्तावेज में चीनी विदेश मंत्रालय ने दावा किया है कि डोकलाम सीमा पर जहां पहले तकरीबन 400 भारतीय सैनिक डटे हुए थे उनकी तादाद घटकर 40 रह गई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने चीन द्वारा जारी दस्तावेज के जवाब में कहा है कि भारत ने डोकलाम के संबंध में सभी तथ्यों को 30 जून की प्रेस वार्ता में रखा था। भारत मानता है कि भारत-चीन सीमा पर शांति चीन के साथ हमारे द्विपक्षीय रिश्तों में सुधार के लिए जरूरी है।

उल्लेखनीय है कि भारत ने 30 जून को डोकलाम में चीनी सेना द्वारा अतिक्रमण और सड़क बनाने से जुड़े सभी तथ्यों को स्पष्ट किया था। इस बयान में बताया गया था कि चीन द्वारा डोकलाम में सड़क बनाने की कोशिश का भूटान के सैनिकों के साथ भारतीय सैनिकों ने विरोध किया। भारत ने पूरे घटनाक्रम में चिंता जताते हुए सीमा विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से हल करने पर जोर दिया था।