नेपाल की मुख्य न्यायाधीश के खिलाफ नहीं चलेगा महाभियोग !

नई दिल्ली (29 मई):नेपाल के दो सत्तारूढ़ दलों ने देश की पहली महिला प्रधान न्यायाधीश सुशीला कार्की के खिलाफ दायर महाभियोग प्रस्ताव वापस लेने का फैसला किया है । इस कदम से कार्यपालिका और न्यायपालिका के बीच टकराव जल्द खत्म हो सकता है । मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक नेपाली कांग्रेस और सीपीएन दलों ने मुख्य विपक्षी सीपीएन-यूएमएल के साथ बैठक में यह फैसला किया। 

दोनों दलों के सांसदों ने कार्की के खिलाफ 30 अप्रैल को संसद सचिवालय में महाभियोग प्रस्ताव दायर कराया था। सरकार के स्थानीय संघीय इलाइयों की संख्या बढ़ाने के फैसले और महाभियोग प्रस्ताव वापस लेने की मांग को लेकर विपक्षी दलों का गठबंधन पिछले कुछ दिनों से सदन की कार्यवाही बाधित कर रहा है । बड़े दलों के बीच समझौते के साथ मुख्य विपक्षी यूएमएल ने आज से सदन की कार्यवाही चलने देने का फैसला किया। पार्टी ने आश्वस्त किया है कि संविधान के प्रावधान के मुताबिक 29 मई को बजट की घोषणा की जाएगी ।