अब नहीं देना पड़ेगा टोल टैक्स बैरियर पर फर्राटा भरते निकलेंगे वाहन...!

नई दिल्ली (11 मार्च): हाईवे टोल बूथों पर अब आपकी कार फर्राटे हुए निकलेगी। टोल पर रुकने से समय और ईंधन का नुकसान अब नहीं होगा। टोलों पर वाहनों के रुकने से हर साल अर्थव्यवस्था को सवा लाख करोड़ रुपये का नुकसान होता है। यही वजह है कि मोदी सरकार पूरे देश में इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन प्रणाली को सुदृढ़ और सुगम बनाने का प्रयास कर रही है।  इस नियम के लागू होते ही आपको टोल प्लाज़ा पर रुक कर टोल टैक्स कैश में नहीं देना होगा।

वहीँ यूपी में इलेक्ट्रॉनिक टोल कलेक्शन प्रणाली की शुरुआत बहुत जल्द शुरु होने वाली है। यूपी के राजमार्गो के टोल प्लाजा पर रोडवेज बसें जल्द ही फर्राटा भरते हुए निकलेंगी। बसों-कारों में लगा फास्ट टैग आरएफआइडी (रेडियो फ्रीक्वेंसी आइडेंटीफिकेशन) कार्ड चलती बस से ही टोल टैक्स का भुगतान कर देगा जिससे बस यात्रियों का समय और परिवहन निगम का ईंधन भी बचेगा। स्टेट बैंक और एक्सिस बैंक ने यह कार्ड बनाने शुरू कर दिए हैं।

कुछ वर्ष पहले आईआईएम- कोलकाता ने देश भर के टोल प्लाजा पर बर्बाद होने वाले समय को लेकर एक अध्ययन किया था। इसके अनुसार राष्ट्रीय राजमार्गो पर स्थित टोल प्लाजा पर वाहनों का काफी समय व ईंधन बर्बाद होता है। इससे वायु प्रदूषण में बढ़ोतरी के अलावा माल के परिवहन में भी विलंब होता है। इसके कारण कुल मिलाकर अर्थव्यवस्था को सवा लाख करोड़ के सालाना नुकसान होता है।