अब स्‍कूलों में नहीं मिलेगा फास्टफूड, दूसरी चीजों पर भी बैन

सैय्यदा अफीफा/दिव्या अग्रवाल, नई दिल्ली (7 जनवरी): अगर आपके बच्चे भी स्कूल में फास्टफूड खाने के शौकीन हैं और आप उनकी इस आदत से परेशान हैं तो आपके लिए एक खुशखबरी है। सीबीएसई ने अपने स्कूलों की कैंटीन में मिलने वाले पिज्जा, बर्गर, नूडल्स पर ही नहीं बल्कि टॉफी चॉकलेट पर भी बैन लगाने के आदेश दिए हैं।

न सिर्फ स्कूल में बल्कि स्कूल के 200 मीटर बाहर भी आपके बच्चों को अब टॉफी, चॉकलेट, कोल्डड्रिंक नहीं मिल पाएगी। सीबीएससी ने स्कूलों को सर्कुलर जारी करते हुए कहा है कि अधिक कार्बोहाइड्रेट, नमक, चीनी वाले भोजन टाइप 2 डायबिटीज और ब्लडप्रेशर जैसी बीमारियां बढ़ाते हैं। इसलिए स्कूलों की कैंटीन में चिप्स, कोल्डड्रिंक, नूडल्स, पिज्जा, बर्गर, जैसे फास्टफूड और चॉकलेट, कैंडी जैसी कंफेक्शनरी चीज़ें नहीं मिलनी चाहिए।

फिलहाल स्कूलों में क्रिसमस और न्यू ईयर की छुट्टियां चल रही हैं, लेकिन माना जा रहा है कि स्कूलों के खुलने के बाद कैंटीनों से फास्टफूड हटा लिया जाएगा। सीबीएससी सचिव ने स्कूलों को ये भी निर्देश दिया है कि ये सारी चीज़े स्कूल के बाहर भी 200 मीटर तक न मिल पाएं। सीबीएससी के इस फैसले से बच्चों के माता-पिता खुश हैं।

बाल विकास मंत्रालय को सौंपी गई इस रिपोर्ट में सीबीएसएसी के सचिव ने फास्टफूड को लेकर और भी बहुत सिफारिशें की हैं। लेकिन सवाल ये है कि क्या हकीकत में ये संभव है? स्कूल, अपनी कैंटीन में तो फास्टफूड पर बिक्री पर रोक लगा देंगे लेकिन 200 मीटर बाहर दुकानों पर मिलने वाले फास्टफूड को बिकने से कैसे रोकेंगे?

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=zJdppCz33Qg[/embed]