आतंकियों को जिंदा पकड़ों: महबूबा

 

नई दिल्ली ( 21 अक्टूबर ) : जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने भारत और पाकिस्तान के बातचीत देते हुए घाटी में शांति की अपील की। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि वह राज्य से AFSPA हटाना चाहती है, लेकिन उसके लिये अमन जरूरी है। अमन के जो दुश्मन बच्चों को ढाल बनाकर हिंसा फैलाते हैं उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। 

सबसे महत्वपूर्ण बात यह कि महबूबा मुफ्ती ने जम्मू-कश्मीर पुलिस से अपील की कि वह घाटी के भटके आतंकी बने युवाओं को सीधे एनकाउंटर करे, बल्कि उन्हें गिरफ्तार करने की कोशिश करे। 

जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने आज श्रीनगर में पुलिस के शहीद दिवस के मौके पर यह आदेश दिया। महबूबा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर से कहा, वह हाल के दिनों में बने आतंकी युवाओं का एनकाउंटर करने से बचें, बल्कि उन्हें पकड़ने का प्रयास करें। 

आतंकवादियों को लेकर महबूबा मुफ्ती ने कहा, सीमा पार से आंतकियों काफी घुसपैठ हुई है। उन्होंने कहा कि इन विदेशी आतंकियों को घाटी में मौजूद स्थानीय आतंकियों से मदद मिलती है जिसकी वजह से वह जवानों और आम लोगों को निशाना बनाते हैं। 

महबूबा मुफ्ती ने पाकिस्तान को नसीहत दी कि वह घाटी में आतंकवाद का समर्थन बंद करे। साथ ही महबूबा मुफ्ती ने अलगाववादियों पर जमकर हमला बोला। उन्होंने कहा, ये लोग अपनी सियासत के लिए छोटे-छोटे बच्चों का इस्तेमाल करते हैं और घाटी में हिंसा भड़काते हैं। महबूबा ने कहा कि हिंसा भड़काने वालों को बख्शा नहीं जाएगा, उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।