बाजार में अब सिर्फ 'मेड इन मेरठ', मेड इन चाइना का डिब्बा गोल

नई दिल्ली (16 अक्टूबर): दीवाली के लिए सजे-धजे बाजारों में इस बार चीन से आयातित मूर्तियां पूरी तरह गायब हैं और उत्तर प्रदेश के मेरठ से आई मूर्तियों (गॉड फिगर) का जलवा ही चारों तरफ दिखाई दे रहा है। व्यापारियों के अनुसार दिल्ली और आसपास के इलाकों से भी कुछ मूर्तियां बाजार में आई हैं, लेकिन मेरठ के मूर्तिकार बाजार पर पूरी तरह से हावी हैं। 

व्यापारियों का कहना है कि पिछले साल दिवाली पर राजधानी के बाजारों में दिल्ली के बुराड़ी, पंखारोड, गाजीपुर, सुल्तानपुरी आदि इलाकों के मूर्तिकारों की मूर्तियां छाई रहतीं थीं, लेकिन इस बार मेरठ इन पर हावी हो गया है। दिल्ली के मूर्तिकार उनसे पिछड़ गए हैं। वहीं मेरठ के अलावा कोलकाता से आई मूर्तियां भी बाजार में बिक रही हैं। राजधानी के प्रमुख थोक बाजार सदर बाजार के व्यापारियों का कहना है कि इस बार गॉड फिगर के बाजार में ज्यादातर मेरठ की मूर्तियां बिक रही हैं। चीन पूरी तरह गायब हो चुका है। उपभोक्ता भी सिर्फ देश में बनी देवी-देवताओं की मूर्तियों की मांग कर रहे हैं।