लालू की रैली में शामिल होकर गठबंधन धर्म का पालन करेंगे नीतीश

पटना (2 जुलाई): बिहार में नीतीश-लालू गठबंधन पर संकट के बादल के बीच जेडीयू अध्यक्ष ने साफ किया है कि वो 27 अगस्त को पटना में आयोजित आरजेडी की बीजेपी हटाओ देश बचाओ रैली में शामिल होंगे। इससे पहले खबर आ रही थी नीतीश कुमार लालू यादव की इस रैली में शामिल नहीं होंगे।  लालू यादव की इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी, ओडिशा के मुख्‍यमंत्री नवीन पटनायक, हरियाणा के पूर्व मुख्‍यमंत्री ओम प्रकाश चैटाला और पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा शामिल हो सकते हैं। इस रैली में समजावादी पार्टी प्रमुख और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव व बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती के शामिल होने की भी उम्‍मीद है।

साथ ही नीतीश कुमार ने साफ किया है वो हमेशा गठबंधन धर्म का पालन करते रहे हैं और आगे भी करते रहेंगे। साथ ही नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होंने दो बार विपक्षी एकजुटता का प्रयास किया था लेकिन यूपी और असम चुनाव के दौरान ऐसा नहीं हो सका। यूपी में विपक्षी एकजुटता नहीं होने की वजह से ही बीजेपी सत्ता में आई।

 इससे पहले खबर आ रही थी राष्ट्रपति चुनाव को लेकर नीतीश कुमार के एनडीए कैंडिडेट रामनाथ कोविंद को समर्थन देने के फैसले को लेकर उनकी और लालू यादव दूरियां काफी बढ़ गई है।

लगे हाथों नीतीश कुमार ने बीजेपी पर भी हमला बोला। उन्होंने कहा कि बीजेपी के लोग गाय की बात करते हैं। बीजेपी के लोग सड़क पर घूमने वाली गायों को क्यों नहीं पालती। बिहार से ज्यादा यूपी में सड़क पर गाय घूमती है।