नीतीश का लालू पर तंज, कहा- कफन में जेब नहीं होती, जो भी होगा यहीं रह जाएगा

पटना (26 जुलाई): मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद नीतीश कुमार ने लालू यादव पर जमकर निशान साधा और इस्तीफे के फैसले को हर मूमकिन सही ठहराने की कोशिश की। उन्होंने कहा कि महागठबंधन की सरकार को 20 महीने से ज्यादा चलाया। हमने गठबंधन धर्म का पालन किया. बिहार में सामाजिक परिवर्तन को लागू किया गया। जो भी विकास का काम था उसे जारी रखा। अब मौजूदा माहौल में मेरे लिए काम करना संभव नहीं हो सकता।

हमने तेजस्वी का इस्तीफा नहीं मांगा, हमने लालू जी से बात की लेकिन हल नहीं निकला। नीतीश ने यह भी कहा कि आमजन में अवधारणा को एक्सप्लेन करना जरूरी था। अब ऐसी परिस्थिति हो गई कि काम करना भी मुश्किल हो गया था। हमने अपनी तरफ से पूरी तरह से महागठबंधन धर्म को निभाने की कोशिश की. हमने कांग्रेस से भी बात की राहुल जी से भी बात की।

नीतीश ने आगे कहा कि मैंने बार-बार कहा है कि कफन में कोई जेब नहीं होती है जो भी है वह यहीं रहेगा। हम विपक्षी एकता के पक्षधर रहे हैं लेकिन क्या हम अपनी सोच को प्रकट नहीं कर सकते।