इसलिए जेडीयू को नहीं मिली कैबिनेट में जगह

नई दिल्ली (3 सितंबर): केंद्र सरकार ने कैबिनेट विस्तार में जनता दल युनाइटेड को मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किया गया है। इसके पीछे का कारण मोदी और नीतीश के बीच मंत्री पद की मांग को लेकर एक राय नहीं बनना बताया जा रहा है।

दरअसल, जदयू को एक कैबिनेट देने की बात थी, मगर नीतीश की टीम चाहती थी कि उन्हें दो यानी एक राज्यमंत्री भी मिले। उनका तर्क था कि रामविलास पासवान और उपेन्द्र कुशवाहा पहले से एनडीए में शामिल हैं, उनसे तो एक ज़्यादा हो।

मगर मोदी की दिक़्क़त बिहार के पुराने सहयोगियों के साथ-साथ शिवसेना की थी। शिवसेना पहले ही मंत्रिमंडल में बेहतर प्रतिनिधित्व के लिए दबाव बनाता रही थी। जदयू को दूसरी सीट देते ही दूसरे सहयोगी नाराज़ हो जाते। इस बात को नीतीश ने भी समझा, लेकिन पासवान और कुशवाहा से बड़ी लकीर खींचने के उद्देश्य से मंत्रिमंडल में फ़िलहाल शामिल होने से दूरी बना ली।