CM नीतीश का बड़ा फैसला, 'सृजन' घोटाले की होगी CBI जांच

पटना (17 अगस्त): बिहार में सृजन घोटाले पर जारी घमासान के बीच बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़ा फैसला किया है। नीतीश कुमार ने कथित 600 करोड़ के इस घोटाले के CBI जांच की की सिफारिश की है। इस घोटाले को लेकर आरजेडी अध्यक्ष लालू यादव लगातार नीतीश कुमार और बिहार सरकार पर दवाब बना रहे हैं।

आपको बता दें कि 'सृजन' एक गैर सरकारी संस्था है, जो जिले में महिलाओं के विकास के लिए कार्य करती थी, असल में इस संस्था का मुख्य धंधा करोड़ों का गोरखधंधा था। इस संस्था ने पिछले कई वर्षों से बैंकों की मिलीभगत से सरकारी जमा खाते से तकरीबन 300 करोड़ रुपये से ज्यादा की अवैध निकासी की। वैसे तो इस दफ्तर को आर्थिक अपराध शाखा, जो इस पूरे गोरखधंधे की जांच कर रही है, द्वारा सील किया जा चुका है।

गौरतलब है कि इस पूरे मामले में अब तक 7 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी हैं और 5 प्राथमिकी भी दर्ज की जा चुकी हैं। 'सृजन' के संस्थापक मनोरमा देवी के पुत्र और बहू, अमित कुमार और बेटी प्रिया कुमार फिलहाल फरार चल रहे हैं और पुलिस उनको गिरफ्तार करने के लिए दबिश दे रही है। मनोरमा देवी जो इस पूरे गोरखधंधे की मास्टरमाइंड थी, उसकी मृत्यु इसी साल फरवरी महीने में हो चुकी है।