आरोपों पर बोले तेजस्वी- 14 साल की उम्र में घोटाला कैसे कर सकता हूं

पटना(12 जुलाई): बिहार महागठबंधन के भविष्य पर उठ रहे सवालों के बीच बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में अपनी कैबिनेट की बैठक बुलाई। इस बैठक में उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव भी शामिल हुए। घोटाले में अपना नाम आने के बाद पहली बार मीडिया से खुद मुखातिब हुए तेजस्वी ने कहा कि ये महागठबंधन को तोड़ने की बीजेपी की साजिश है। वह भयभीत है, इसलिए इस तरह के आरोप लगा रही है।


- तेजस्वी ने कहा, मुझ पर कोई उंगली नहीं उठा सकता। भ्रष्टाचार पर हमारा शुरू से जीरो टॉलेरेंस रहा है।' इसके साथ ही उन्होंने कहा, 'मंत्री बनने के बाद तो हमने कुछ गलत किया नहीं और जिस वक्त घोटाले की बात कही जा रही है, उस वक्त मैं महज 13-14 साल का था। बताइये 13-14 साल का कोई लड़का क्या घोटाला करेगा?'


- दरअसल बुधवार सुबह बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कैबिनेट बैठक बुलाई थी, जिसमें उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने भी हिस्सा लिया। इसके बाद मीडिया से बातचीत में उन्होंने बीजेपी पर साजिश का ठीकरा फोड़ा।


- तेजस्वी ने भ्रष्टाचार के इन आरोपों को उन्हें और बिहार को बदनाम करने की साजिश करार दिया। उन्होंने कहा, आने वाले चुनाव बीजेपी को मुंहतोड़ जवाब देंगे।