संघ मुक्त भारत, शराब मुक्त समाज चाहता हूं: नीतीश

वाराणसी (12 मई): बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से पहुंचकर बीजेपी के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। उन्होंने कहा कि बीजेपी की कथनी और करनी में बहुत फर्क है। चुनाव में जो भी बादे किए उसे पार्टी भूल गई। उन्होंने कहा कि बिहार के बाहर जाने पर बीजेपी के लोग मजाक उड़ाती है। 

एक जनसभा को संबोधित करते हुए नीतीश ने आरोप लगाया कि बीजेपी आर्थिक मोर्चे पर विफल हो गई है। कालाधन अभी तक भारत नहीं ला पाए। शराब बंदी का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने कहा कि बिहार में शराब से महिलाएं बहुत परेशान थीं।

उनकी ही मांग पर शराब बंदी का फैसला लिया। नीतीश ने कहा कि अब झारखंड के लोग भी शराब बंदी करने की मांग कर रहे हैं।

बिहार के सीएम ने कहा कि यूपी में भी शराब बंदी की जाए। उन्होंने कहा कि 15 मई को शराब बंदी पर लखनऊ में सम्मेलन किया जाएगा। बीजेपी पर हमला करते हुए नीतीश ने सवाल उठाया कि पार्टी ने शराब बंदी के लिए कौन-कौन से कदम उठाए।

बीजेपी शासित प्रदेश में शराब की बिक्री पर रोक क्यों नहीं? उन्होंने लोगों से पूछा कि क्या शराब से आमदनी सही है? नीतीश ने कहा कि संघ मुक्त भारत, शराब मुक्त समाज चाहते हैं।