उप राष्ट्रपति चुनावः विपक्ष को एक बार फिर झटका देंगे नीतीश कुमार

नई दिल्ली (10 जुलाई): राष्ट्रपति चुनाव के लिए विपक्षी एकता की कोशिशों को करार झटका दे चुके बिहार के सीएम नीतीश कुमार उपराष्ट्रपति के इलेक्शन में भी अलग राह अपना सकते हैं। उपराष्ट्रपति चुनाव में उम्मीदवारी को लेकर मंगलवार को होने वाली गैर-एनडीए दलों की मीटिंग से नीतीश कुमार ने दूर रहने का फैसला लिया है। इससे पहले वह गैर-बीजेपी दलों की ओर से राष्ट्रपति उम्मीदवार को लेकर चर्चा करने के लिए आयोजित मीटिंग से भी दूरी बना चुके हैं। हालांकि हाल ही में जेडीयू की ओर से कहा गया था कि उपराष्ट्रपति चुनाव में पार्टी यूपीए के कैंडिडेट का साथ दे सकती है।