बिहार में दही-चूड़ा की सियासत, क्या नीतीश-बीजेपी पक रही है कोई 'खिचड़ी'?

पटना (14 जनवरी): इन दिनों बिहार में दही-चूड़ा की सियासत जोरों पर है। आज लालू यादव के दही-चूड़ा भोज ने तमाम दलों के नेताओं को आमंत्रित किया गया था। लेकिन बीजेपी के नेता लालू के भोज में नहीं पहुंचे। वहीं कल यानी 15 जनवरी को जेडीयू का दही-जूड़ा का भोज है। मकर संक्रांति पर जेडीयू की ओरसे आयोजित भोज बीजेपी नेताओं को भी न्यौता दिया गया है। बीजेपी ने नीतीश के इस न्यौते को खुशी-खुशी स्वीकार कर लिया है। 

बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और बीजेपी नेता सुशील मोदी ने न सिर्फ इस भोज में शामिल होने की पुष्टि की बल्कि नीतीश से दिल का रिश्ता भी बता डाला। सुशील ने यहां तक कह डाला कि उनका लालू की तुलना में कहीं ज्यादा नीतीश से करीबी रिश्ता है।

नीतीश कुमार के फिर से उमड़ते बीजेपी प्रेम को लेकर चर्चाएं जोरों पर है। पहले नोटबंदी पर पीएम मोदी की तारीफ फिर प्रकाश पर्व पर पटना में मंच साझा कर नीतीश ने ऐसी चर्चाओं को और बल दिया है। चर्चाएं हैं कि चूरा-दही पर भोज के बहाने नीतीश और बीजेपी में कहीं कुछ 'खिचड़ी' तो नहीं पक रही।