गडकरी ने दी कानूनी कार्रवाई की चेतवानी, तो शेहला रशीद ने मारी पलटी

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली ( 10 जून ): भाजपा के वरिष्ठ नेता व केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जेएनयू की पूर्व उपाध्यक्ष शेहला रशीद के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। इसके बाद शेहला रशीद अब बैकफुट पर आ गई हैं। दरअसल, शेहला रशीद ने केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) पर पीएम मोदी की हत्या की साजिश रचने में शामिल होने का सनसनीखेज आरोप लगाया था।शेहला के इस आरोप से बिफरे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है जिसके बाद शेहला ने अपना बचाव किया और अपने आरोप को सिर्फ एक मजाकिया ट्वीट करार दिया। नितिन गडकरी के एक्शन लेने वाले ट्वीट को रिट्वीट करते हुए शेहला ने लिखा कि दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी मजाकिया ट्वीट पर एक्शन ले रही है।  वामपंथी छात्र नेता शेहला रशीद ने ट्वीट किया था कि आरएसएस और नितिन गडकरी पीएम नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रच रहे हैं। इनको देखो, फिर मुसलमानों और कम्युनिस्टों पर आरोप लगाओ और फिर मुस्लिमों की लिंचिंग करो। जेएनयू की छात्र नेता रशीद के इस ट्वीट पर नितिन गडकरी ने कड़ी आपत्ति जताई और मामले में कानूनी कार्रवाई करने की बात कही। बशेहला के ट्वीट के जवाब में बिना नाम लिए गडकरी ने लिखा, 'मैं उन असामाजिक तत्वों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने जा रहा हूं, जिन्होंने मुझ पर पीएम मोदी को डराने के लिए हो रही हत्या की साजिश के मामले को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की है।'बता दें कि माओवादियों की एक चिट्ठी सामने आई है, जिसमें राजीव गांधी की तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्या की साजिश रचने का खुलासा हुआ है। 18 अप्रैल को रोणा जैकब द्वारा कॉमरेड प्रकाश को लिखी गई चिट्ठी में कहा गया कि हिंदू फासिस्म को हराना अब काफी जरूरी हो गया है। मोदी की अगुवाई में हिंदू फासिस्ट काफी तेजी से आगे बढ़ रहे हैं, ऐसे में इन्हें रोकना जरूरी हो गया है।