#News24Conclave: 'मुंबई में IPL मैच रद्द होने के बाद क्या लातूर को पानी मिला'

नई दिल्ली (21 मई): मोदी सरकार के दो साल पूरे होने पर केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि सब विषय पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, कुछ पर सबको मिलकर काम करना चाहिए। वे न्यूज 24 के कार्यक्रम 'दो साल मोदी सरकार' में बोल रहे थे। उन्होंने देश के विकास पर कहा कि आपने कांग्रेस को 10 साल दिए और हमारे दो साल के काम पर ही समीक्षा करने लगे हैं। कम से कम हमें भी पांच साल काम करने का मौका दीजिए।

आईपीएल पर बोले गडकरी

गडकरी ने कोर्ट द्वारा मुंबई से आईपीएल के मैच हटाने पर कहा कि क्या लातूर को पानी मिला। उन्होंने कहा कि आईपीएल महाराष्ट्र में होता तो लातूर को फायदा मिलता। मैच के पैसे से लातूर की मदद हो सकती थी। 

क्या मोदी से डरते हैं सरकार के मंत्री गडकरी ने कहा कि पीएमं मोदी के काम करने का तरीका लोकतांत्रिक है। मोदी जी के नेतृत्व में मंत्री भी अच्छा काम कर रहे हैं। असल में मोदी अच्छा काम करेंगे तो उनके मंत्री भी अच्छा काम करेंगे ही। मोदी जी ने सब मंत्रियों को काम करने की पूरी आजादी दे रखी है। वे कैबिनेट की बैठक में सभी को बोलने का मौका देते हैं। अगर कोई बात गलत लगती है तो वे बोल देते हैं। लेकिन यह धारणा गलत है कि वे कैबिनेट में दूसरे लोगों को बोलने नहीं देते। कैबिनेट में वह हर अच्छी बात स्वीकार करते हैं।

पहले 2 किमी रोड बनती थी अब 45 किमी बनता है परिवहन क्षेत्र में विकास के सवाल पर गडकरी ने कहा कि मैं सपने नहीं दिखाता, जो कहता हूं करता हूं। पहले 2 किलोमीटर रोड रोज बनती थी, अब ये आंकड़ा बढ़कर 45 किमी. हो गया है, जो बड़ी अचीवमेंट हैं। मुद्रा योजना से 2 करोड़ लोगों को रोजगार मिला है। कभी यूरिया के लिए लाठीचार्ज हुआ करता था, लेकिन आज ऐसा नही है। इसके अलावा टूरिज्म के लिए भी हमने बहुत से प्लान तैयार किए हैं।

डीजल टैक्सी के प्रतिबंध पर क्या बोले गडकरी  गडकरी ने कहा कि अगर हम डीजल टैक्सीवालों से सुबह कह देंगे कि काम नहीं करना, तो बेचारे क्या करेंगे। उनकी टैक्सी की किश्ते कहां से जाएंगी। बता दें कि कोर्ट ने दि्ल्ली में डीजल टैक्सी पर प्रतिबंध लगाया था। 

कोर्ट को दी नसीहत गडकरी ने कोर्ट को नसीहत देते हुए कहा कि हर संस्था अपने मर्यादा में काम करे तो लोकतंत्र यशस्वी होगा। पार्लियामेंट का अधिकार कानून बनाने का है। लेकिन अगर सभी बातों पर कोर्ट हमें गैरसंवैधानिक कहेगी, तो काम कैसे होगा। कोर्ट के जजों को दिशानिर्देशन करना मेरा अधिकार नहीं लेकिन एक दूसरे के काम में दखलअंदाजी करेंगे तो काम के रास्ते में समस्या खड़ी हो जाएगी। किसी भी काम के लिए को-ऑपरेशन, को-ऑर्डिनेशन और कॉम्यूनिकेशन की जरूरत होती है। 

पर्यावरण के लिए 5000 करोड़ रुपए खर्च उन्होंने कहा कि पर्यावरण की चिंता हमें भी है। पर्यावरण की सुरक्षा के लिए हम 5000 करोड़ खर्च कर रहे हैं। हमारी सरकार आने के बाद 850 सिस्टम में बदलाव किये हैं।

काम करने वाले लोग मुझे पसंद मैं सकारात्मक सोच के साथ काम करता हूं। मैं उन लोगों को पसंद करता हूं, जो काम करके दिखाते हैं। मैंने अपने विभाग को आदेश दिया है कि किसी भी फाइल को पास होने में तीन दिन से ज्यादा वक्त नहीं चलना चाहिए। देश का उद्योग व्यापार कैसे बढ़े इस बारे में सकारात्मक सोच से काम करता हूं।