2024 से एकसाथ हों लोकसभा-विधानसभा चुनाव: नीति आयोग


नई दिल्ली(30 अप्रैल): नीति आयोग ने सुझाव दिया है कि 2024 से एकसाथ और दो फेज में लोकसभा और विधानसभा चुनाव होना चाहिए। ये भी सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि चुनावों को लेकर कम से कम कैम्पेन किया जाए ताकि सरकारी काम में दिक्कत न हो।


- नीति आयोग ने कहा है कि अगर सुझावों पर अमल किया जाता है तो इसमें अधिकतम एक बार की काट-छांट करनी पड़ेगी या फिर कुछ विधानसभाओं का कार्यकाल बढ़ाना पड़ सकता है।


- नीति आयोग के सुझावों के देखते हुए इलेक्शन कमीशन ने देश में एकसाथ चुनाव का रोडमैप बनाने के लिए एक वर्किंग ग्रुप बनाने को कहा है।


- इस पर रिपोर्ट 6 महीने में आ जाएगी और अगले साल मार्च तक अंतिम रूप से ब्लूप्रिंट तैयार हो जाएगा। इसमें 2017-18 और 2018


-20 तक 3 साल का एजेंडा तैयार किया जाएगा।


- 23 अप्रैल को दिल्ली में हुई नीति आयोग की गवर्निंग काउंसिल की मीटिंग में इसकी ड्राफ्ट रिपोर्ट को पेश किया गया था। मीटिंग में नरेंद्र मोदी समेत राज्यों के सीएम शामिल हुए थे।


- नीति आयोग की ड्राफ्ट रिपोर्ट के मुताबिक, "भारत में सभी चुनाव फ्री और फेयर तरीके से और एकसाथ होने चाहिए। ताकि कम कैम्पेन हो और सरकारी काम में बाधा न पड़े।"


- "हम 2024 से 2 फेज में इलेक्शन प्रोसेस शुरू कर सकते हैं।"


- "देशहित के लिए कॉन्स्टिट्यूशन के एक्सपर्ट्स, थिंक टैंक्स, सरकारी अफसर और राजनीतिक दलों के रिप्रेजेंटेटिव्स को इसकी रूपरेखा तैयार करनी चाहिए।"