निर्भया केस: आरोपियों ने क्यों घबरा कर चीफ जस्टिस को लिखी चिट्ठी? जानिए...

नई दिल्ली (12 जुलाई): निर्भया मामले में दो आरोपियों ने मुख्य न्यायाधीश और जस्टिस दीपक मिश्रा से अपील की है कि राजू रामचंद्रन और संजय हेगड़े को एमिकस क्यूरी ना नियुक्त किया जाए।

एक चिट्ठी लिखकर दोनों आरोपियों का कहना है कि दोनों वकीलों ने टीवी डिबेट्स में उनके खिलाफ बयान दिए थे। जिसके चलते उनके निष्पक्ष होने पर संदेह है। आरोपियों का कहना है कि इन्हें इसलिए नहीं नियुक्त किया जाना चाहिए क्योंकि वे "निष्पक्ष नहीं हो सकते।"

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, जस्टिस सी नगप्पन और आर बानुमती वाली बेंच ने कहा, "हम यह पुष्टि करते हैं कि कोर्ट एमिकस क्यूरी तभी नियुक्त करती है, जब पार्टियां अपने वकीलों से सलाह लेती हैं। इसका मतलब यह नहीं कि वकील सक्षम नहीं है।"

बेंच ने यह भी कहा, "हमने मामले में एमिकस क्यूरी नियुक्त किया क्योंकि हम जानना चाहते हैं। हम एमिकस क्यूरी की भी एक राय और दृष्टिकोण चाहते हैं, जबकि उन मामलों में भी जिनमें वरिष्ठ वकील रह चुके हैं।"