सऊदी अरब में ये हैं 9 बातें जो औरतें नहीं कर सकतीं...

नई दिल्ली (30 जुलाई) :  सऊदी अरब का मानवाधिकारों को लेकर रिकॉर्ड, खास कर महिलाओं की सुरक्षा लेकर अच्छा नहीं माना जाता। हालांकि हाल के कुछ वर्षों में महिलाओं के अधिकारों की दिशा में तरक्की हुई है जैसे कि उन्हें पिछले साल पहली बार म्युनिसिपल चुनावों में वोट देने और प्रत्याशी बनने का मौका दिया गया। लेकिन अभी भी उन्हें इस देश में बहुत सारी बंदिशों के साथ जीना पड़ता है।

आइए बताते हैं कि सऊदी अरब में ऐसी क्या चीज़ें हैं जिन्हें करने की महिलाओं को इजाजत नहीं है।

1. बैंकों में अपनी पति की अनुमति के बिना खाता नहीं खोल सकतीं।

2. महिलाएं कार नहीं चला सकतीं। हालांकि ऐसा कोई कानून नहीं है लेकिन धार्मिक मान्यताओं के चलते ये प्रतिबंध लागू है।

3. ऐसे कपड़े या मेक-अप नहीं अपना सकती जो उनकी सुंदरता का प्रदर्शन करता हो।

4. महिलाएं ऐसे पुरुष, जो कि उनके रिश्तेदार नहीं है, के साथ बिना बहुत ज़रूरी वजह इंटरेक्ट नहीं कर सकती। सऊदी अरब में अधिकतर सार्वजनिक बिल्डिंगों, दफ्तरों, बैंकों, यूनिवर्सिटीज़ में पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग अलग एंट्रेंस होती हैं। यहीं नहीं पब्लिक ट्रांसपोर्ट, पार्क, में भी उनकी बैठने की जगह अलग अलग होती है। पराए पुरुष से घुलने मिलने को आपराधिक कार्रवाई माना जाता है और महिला को कड़ी सज़ा दी जाती है।

5. महिलाओं को पब्लिक स्विमिंग पूल या जिम में जाने की इजाजत नहीं है। इसके लिए वो सिर्फ प्राइवेट पूल या ओनली वुमेन जिम का इस्तेमाल कर सकती हैं।

6. महिलाओं को बहुत सीमित स्तर पर खेल प्रतियोगिताओं में हिस्सा ले सकती हैं। इन खिलाड़ियो को पुरुष गार्जियन को साथ रखना और सिर को ढक कर रखना ज़रूरी होता है।

7. शॉपिंग के वक्त चेंजिंग रूम में महिलाएं कपड़ों को ट्राएल करके नहीं देख सकतीं।

8. अनसेंसर्ड फैशन मैगजीन नहीं पढ़ सकतीं।

9. महिलाएं कब्रिस्तान में नहीं जा सकतीं।

हालांकि अब सऊदी अरब में भी कुछ महिलाओं के अपने हक़ में आवाज़ उठाने से स्थिति में कुछ बदलाव आना शुरू हो गए हैं। लेकिन अभी भी इस दिशा में बहुत कुछ किए जाना बाकी है।