पानी के लिए चाचा ने भतीजी को जलाकर मार डाला

नई दिल्ली (18 सितंबर): तमिलनाडु और कर्नाटक में अभी पानी के बंटवारे का विवाद थमा नहीं है कि उत्तरप्रदेश के एटा में 16 साल की लड़की को उसके ही रिश्तेदारों ने पानी के लिए जला कर मार डाला। मृतका और आरोपी दोनों वालमीकि समुदाय के हैं। लड़की का नाम प्रीति था।

मोहनपुरा गांव की रहने वाली प्रीति जब सो रही थी, तभी उस पर केरोसीन छिड़क कर आग लगा दी गई। पुलिस के मुताबिक प्रीति और उसकी चचेरी बहन कैला देवी के बीच हैंडपंप से पानी भरने के लिए बहस हो गई। प्रीति के पिता सतीश चंद्र बीमार थे, इसलिए वह जल्दी पानी भरकर घर लौटना चाहती थी। कैला ने इस पर आपत्ति जताई। इस बात को लेकर दोनों के बीच झगड़ा हो गया।

कैला ने अपने पिता महेश चंद्र और भाई सुभाष को बुला लिया, जिन्होंने प्रीति को मार देने की धमकी दी। रात लगभग 9 बजे महेश और उसका बेटा प्रीति के घर गए और प्रीति के कमरे में खिड़की से केरोसीन डाल दिया और आग लगा दी।

वह बुरी तरह से जल गई थी, इसलिए अस्पताल ले जाते समय रास्ते में ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने मामले की शिकायत दर्ज कर ली है। महेश चंद्र, उसके बेटे सुभाष और बेटी कैला के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। तीनों आरोपी फरार हैं।