मुस्लिम धर्मगुरु जाकिर नाइक से NIA कर सकती है पूछताछ

 

 

नई दिल्ली(7 जुलाई): मुस्लिम धर्मगुरु डॉ. जाकिर नाइक के खिलाफ मुंबई में लोगों ने बैन की मांग की। वहीं एनआईए नाइक से पूछताछ की तैयारी कर रही है।

बता दें कि ढाका में पिछले दिनों हुए हमले में शामिल दो आतंकियों को नाइक से इन्सपायर बताया गया है। बांग्लादेश सरकार ने भारत से इस बारे में मदद मांगी है। वहीं, नाइक ने कहा है कि दुनियाभर में फिदायीन हमलों में मुस्लिमों को टारगेट किया जाता है। 

नाइक फिलहाल मक्का में हैं। उन्होंने कुछ मीडिया चैनल्स से कहा कि वे बांग्लादेश सरकार से बात करेंगे। किसी आतंकी घटना में मेरा रोल नहीं है और मेरे खिलाफ कोई सबूत भी नहीं है। हर जांच के लिए तैयार हूं। फेसबुक पर मेरे 1 करोड़ 14 लाख फॉलोअर्स हैं। इनमें सबसे ज्यादा फॉलोअर्स बांग्लादेश के हैं। करीब 90 पर्सेंट बांग्लादेशी मुझे जानते हैं, इनमें सीनियर लीडर्स, बिजनेसमैन, स्टूडेंट्स और दूसरे लोग शामिल हैं। क्या मुझे हैरान होना चाहिए कि हमलावर मुझे जानते थे? नहीं। हो सकता है कि ऐसा शख्स पैगंबर मोहम्मद का कट्टर समर्थक हो। लेकिन क्या इसका मतलब यह है कि पैगंबर ने उससे लोगों को मारने को कहा होगा।

कुरान का हवाला देते हुए नायक ने कहा कि अगर कोई किसी भी धर्म को मानने वाले का कत्ल करता है तो वह पहले इंसानियत का कत्ल करता है। वहीं एनआईए के सीनियर अफसर ने बताया कि हमें उनकी स्पीच को स्कैन करना होगा और यह पता लगाना होगा कि क्या वाकई उसने आतंकवाद के फेवर में कुछ कहा है। या जिहाद के जरिए खलीफा बनाने की बात कही है। या इस्लामिक स्टेट जैसे किसी भी टेररिस्ट ऑर्गनाईजेशन का कभी समर्थन किया है। कोई कार्रवाई तभी की जा सकेगी जब पुख्ता सबूत मिलेंगे। क्योंकि इन्हीं के बेस पर कोर्ट में हम केस को मजबूत कर पाएंगे। अब यह पता लगाया जा रहा है कि क्या वाकई उनके खिलाफ एक्शन लिया जा सकता है या नहीं। जाकिर से सऊदी अरब से लौटने के बाद ही पूछताछ की जा सकेगी।