आंध प्रदेश रेल हादसे की NIA ने शुरू की जांच, आतंकी साजिश की आशंका

नई दिल्ली ( 23 जनवरी ): आंध्र प्रदेश के विजयनगरम में शनिवार की रात हुए हीराखंड ट्रेन हादसे में अब तक 41 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं इस हादसे की जांच के लिए सीआईडी और एनआईए की टीम मौके पर पहुंच चुकी है। इसके अलावा मौके पर पहुंचने वालों में एडीजीपी द्वारका त्रिमुला राव और आई आईजी अमित गर्ग भी हैं। अधिकारी इस हादसे के पीछे माओवादियों का हाथ होने से भी इंकार नहीं कर रहे हैं। यह टीम हादसे के पीछे आतंकी साजिश और इससे जुड़े अन्य पहलुओं पर भी जांच करेगी। सामेवार को भी दुर्घटनाग्रस्त हुई ट्रेन की बोगियों से दो और शवों को निकाला गया था।


जगदलपुर-भुवनेश्वर हीराखंड एक्सप्रेस ट्रेन शनिवार की रात करीब 11.30 बजे पटरी से उतर गई थी। यह हादसा ओडिशा के रायगढ़ से करीब 24 किमी दूर कुनेरु स्टेशन को पास हुआ था। जिस वक्त यह हादसा हुआ उस वक्त ट्रेन भुवनेश्वर से छत्तीसगढ़ के जगलदलपुर की ओर जा रही थी। हादसे के बाद इस ट्रेन के करीब नौ कोच पटरी से उतर गए थे जिसमें करीब 68 लोग घायल हो गए थे। सभी घायलों का इलाज आंध्र प्रदेश और ओडिशा के अस्पतालों में किया जा रहा है।


एनआईए की टीम ट्रेन की पटरी को तोड़-फोड़ से जुड़े पहलुओं की जांच करेगी। इसके अलावा वह इस हादसे के पीछे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के तार जुड़े होने की भी जांच कर रही है। गौरतलब है कि कानुपर ट्रेन हादसे के पीछे आईएसआई का हाथ होने का खुलासा होने के बात सामने आई है। इस हादसे में करीब 150 लोगों की मौत हो गई थी।