भारतीय युवाओं को ऐसे फंसा रही ISIS की ये हसीना

नई दिल्ली(12 जून): खूंखार आतंकी संगठन आईएसआईएस ने कातिल हसीनाओं को भी आतंक की फैक्ट्री चलाने की जिम्मेदारी दे रखी है। आईएस की एक हसीना का नाम है करेन आयशा हामिडन। हामिडन संगठन में नए आतंकियों की भर्ती करती हैं।

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक भारत की सुरक्षा एजेंसियां हामिडन की तहकीकात में लग गई है। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने फिलीपींस सरकार से हामिडन के बारे में जानकारी और सुबूत जुटाने के लिए मदद मांगी है। 

एजेंसी का दावा है कि हामिडन हाल ही में भारत में गिरफ्तार किए गए दो आईएस आतंकियों मोहम्मद सिराजुद्दीन और मोहम्मद नासिर के संपर्क में थी। भारत ने आतंकी महिला का फिलीपींस स्थित पता भी मुहैया कराया है। एनआईए के मुताबिक हामिडन मेट्रो मनीला के टेगुइग सिटी में डिएगो शिलांग गांव की रहने वाली है। उसका असली नाम करेन आयशा अल-मुस्लिमाह है। एजेंसी ने उसकी आईडी और फोन नंबर भी बताए हैं।

फेसबुक, व्हाट्सऐप, ट्विटर, टेलीग्राम आदी सोशल साइट्स के जरिए आईएस के लिए युवाओं को बरगालकर आतंकी संगठन में भर्ती करने में माहिर इस आतंकी हसीना का नेटवर्क महज भारत तक ही सीमित नहीं हैं, ये अमेरिका, यूरोप, संयुक्त अरब अमीरात अर्जेंटीना, ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश आदी में देशों से भी आईएस के लिए भर्तियां करती है।

हामिडन "IslamQ&A" के नाम से सबसे बड़ा ग्रुप चलाती है, जहां आतंक, जिहाद, खिलाफत विचारधारा से संबंध रखने वालों का जमावड़ा है। इस ग्रुप में जरिए कुछ भारतीय युवा भी आईएस में शामिल होने के इच्छा जता चुके हैं।

आईएसआईएस के खिलाफ एनआईए की पिछले हफ्ते दाखिल की गई चार्जशीट में भी करेन आयशा हामिडन का नाम शामिल है। हामिडन ने इंडियन ऑयल के असिस्टेंट मैनेजर रहे मोहम्मद सिराजुद्दीन को विचारधाना में अंतर के चलते व्हाट्सऐप ग्रुप और टेलीग्राम चैनल पर बैन कर दिया था।