केरल लव जिहाद: NIA के हाथ लगे अहम सुराग


नई दिल्ली (28 अगस्त): केरल लव जिहाद मामले में एनआईए को एक बड़ा सुराग हाथ लगा है। खबर के अनुसार, एनआईए ने पाया है कि जिसने हिंदू लड़की को मुसलमान बनने के लिए बहलाया-फुसलाया, उसके रैडिकल ग्रुप पॉप्युलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से रिश्ते हैं।

दरअसल, अखिला अशोकन उर्फ हादिया ने कथित रूप से धर्म परिवर्तन कर निकाह किया था। लड़की के पिता ने केरल हाई कोर्ट में अर्जी दाखिल कर शादी रद्द करने की गुहार लगाई थी। याचिका में कहा गया था कि लड़की का जबरन धर्म परिवर्तन कराया गया और लड़के (शैफीन) का संबंध आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट संगठन से है। इसमें आरोप लगाया था कि पीएफआई के सदस्य हिंदू लड़कियों को भ्रमित कर इस्लाम धर्म अपनाने के लिए प्रेरित करते हैं।

एनआईए की यह रिपोर्ट केरल पुलिस की जांच पर आधारित है। एनआईए ने अपनी जांच में पाया कि हादिया को उसके मेंटर साइनाबा ने बहला-फुसलाकर इस्लाम कबूलने में मदद की। साइनाबा के पीएफआई, एसडीपीआई और मार्काजुल हिदाया जैसे मुस्लिम संगठनों से रिश्ते हैं। एनआईए ने अथीरा नांबियार मामले में कुछ कॉमन चीजें पाईं हैं। अथीरा को भी साइनाबा ने ही इस्लाम धर्म कबूलने के बहलाया-फुसलाया था। इस मामले में गिरफ्तार मोहम्मद कुट्टी (पीएफआई-एसडीपीआई सदस्य) ने पूछताछ में माना कि हादिया और अथीरा को उसके मां-बाप से दूर रखने के लिए अलग-अलग जगह पर रखा गया। यहां तक कि पैरंट्स और पुलिस अधिकारियों को भ्रमित करने के लिए पत्र भी भेजे गए।