नगरोटा हमले में NIA को मिली बड़ी कामयाबी, जैश-ए-मोहम्मद का आतंकी गिरफ्तार

नई दिल्ली ( 26 मई ): नेशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (एनआईए) के हाथ शनिवार को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। जम्मू के नगरोटा सैन्य कैंप पर हुए आतंकी हमले की जांच कर रही एनआईए ने कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में रहने वाले एक शख्स को गिरफ्तार किया है। बता दें कि साल 2016 के नवंबर महीने में जम्मू के नगरोटा सैन्य कैंप पर हमला हुआ था।  गिरफ्तार किए गए शख्स के जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े होने और नगरोटा हमले की साजिश में शामिल होने की बात सामने आई है, जिसके बाद एनआईए समेत अन्य एजेंसियों के अधिकारी उससे गहन पूछताछ कर रहे हैं। इसके अलावा प्रारंभिक पूछताछ के बाद एनआईए ने यह भी दावा किया है कि नगरोटा के सैन्य कैंप पर हुए हमले को आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने अंजाम दिया था।29 नवंबर 2016 को जम्मू के नगरोटा सैन्य कैंप पर फिदायीन आतंकियों के एक दल ने आतंकी हमला किया था। आतंकियों के इस हमले में सेना के 2 अफसरों समेत 7 सैन्यकर्मी शहीद हुए थे। वहीं हमले के बाद जवाबी मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने 3 फिदायीन आतंकियों को मार गिराया था, जिसके बाद भारी मात्रा में हथियार बरामद किये गए थे। नगरोटा हमले के बाद राष्ट्रीय जांच एजेंसी को इसकी जांच सौंपी गई थी। इसी जांच के क्रम में शनिवार को एजेंसी ने उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के रहने वाले सैयद मुनीर उल हसन कादरी नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया है, जिसके बाद इससे कड़ी पूछताछ की जा रही है।सूत्रों के मुताबिक मुनीर उल हसन कादरी को नगरोटा हमले की साजिश में शामिल होने और आतंकियों को स्थानीय मदद देने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। माना जा रहा है कि कादरी ने शुरुआती पूछताछ में एजेंसी के सामने हमले के कई राज उगले हैं, जिनके आधार पर आगे की तफ्तीश की जा रही है।