पठानकोट हमले की जांच के लिए NIA ने अमेरिकी FBI से किया संपर्क!

नई दिल्ली (6 अप्रैल): पठानकोट हमले में जांच के सिलसिले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने अमेरिकी एजेंसी फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (एफबीआई) समेत कुछ विदेशी जांच एजेंसियों से संपर्क किया है। गौरतलब है, एनआईए के दल को पूरी जांच के लिए पाकिस्तान जाने की अनुमति के उधर से औपचारिक जवाब का अभी भी इंतजार है।

'हिंदुस्तान टाइम्स' की रिपोर्ट के मुताबिक, बताया जा रहा है कि पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सदस्यों की तरफ से छोडे गये कुछ साइबर निशानों का पता लगाने के लिए एफबीआई समेत कुछ एजेंसियों की मदद मांगी गयी है। पठानकोट में एक और दो जनवरी की मध्य रात को एयरबेस पर हमले के तुरंत बाद जैश प्रमुख मौलाना मसूद अजहर के भाई अब्दुल रउफ ने हमले की जिम्मेदारी ली थी। ‘अलकलम डॉट कॉम' और ‘रंगूनूर डॉट कॉम' पर एक वीडियो में उसने यह जिम्मेदारी ली थी। ये वेबसाइट एक अमेरिकी डोमेन सेवा प्रदाता से संचालित थीं।   पाकिस्तान के संयुक्त जांच दल (जेआईटी) के पिछले सप्ताह भारत आने से पहले 'अलकलम' को बंद कर दिया गया था। वहीं दूसरी वेबसाइट चालू रही, लेकिन वीडियो हटा लिया गया। बताया जा रहा है कि इस वेबसाइट का भुगतान एक यूरोपीय देश के रास्ते हुआ। एनआईए ने भुगतान करने वाले शख्स का ब्योरा मांगा है। एनआईए ने पठानकोट में आतंकवादियों के साथ 80 घंटे चली मुठभेड के बाद जब्त किए गये हथियारों और अन्य उपकरणों के संबंध में अन्य अंतर्राष्ट्रीय एजेंसियों से भी संपर्क साधा है।   बताया गया है कि एनआईए ने जेआईटी के लिखित अनुरोधों के आधार पर उसे सभी सबूत मुहैया कराये हैं। आतंकवाद निरोधक विभाग की पाकिस्तानी जेआईटी को एनआईए ने बताया कि आपसी आदान-प्रदान के आधार पर तय हुईं शर्तों के आधार पर सहयोग किया गया। जेआईटी में अतिरिक्त पुलिस महानिरीक्षक मुहम्मद ताहिर राय अगुवाई कर रहे हैं। एनआईए को पाकिस्तान के दौरे की मंजूरी का इंतजार है। एनआईए ने भी पाकिस्तान को एक अनुरोध पत्र भेजा है। जिसके लिए जवाब का अब भी इंतजार है।