अब टोल नाके पर लाइन से मिलेगी निजात, सरकार ने किया ये काम


नई दिल्ली (17 अगस्त): टोलनाकों पर टोल के लिए लगने वाली लंबी कतारों से लोगों को छुटकारा देने के लिए सरकार ने 2 नई मोबाइल एप लॉन्च की हैं। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने लाइन खत्म करने के लिए MyFASTag और FASTag पार्टनर नाम की दो एप लॉन्च की है, जो एंड्रायड और आईफोन दोनों के लिए उपलब्ध हैं। इन दोनो एप का मकसद ग्राहकों तक ज्यादा से ज्यादा FASTag कार्ड मुहैया कराना है।

दोनो माबाइल एप लॉन्च करने के मौके पर NHAI के चेयरमैन दीपक कुमार ने बताया कि ETC प्रोजेक्ट का उद्देश्‍य FASTag कार्ड की बिक्री बढ़ाना और उसके रिचार्ज को आसान बनाना है। रिचार्ज का मौजूदा तरीका काफी जटिल है। लॉन्च हुए नए मोबाइल एप्‍लीकेशंस की मदद से FASTag को रिचार्ज करना आसान होगा, साथ में इसकी बिक्री भी बढ़ेगी। कोई भी ग्राहक इन दोनो एप्‍स का इस्तेमाल करके अपने लिए FASTag कार्ड खरीद सकता है, साथ में जरूरत पड़ने पर उसे रिचार्ज भी कर सकता है।

FASTag पार्टनर एक मर्चेंट एप है, इस एप के जरिए कॉमन सर्विस सेंटर, बैंकिंग पार्टनर और गाड़ी बेचने वाले डीलर FASTag की बिक्री कर सकते हैं। इस एप के जरिए 2013 के बाद बनी कारों में पहले से लगे हुए RDIF टैग को भी एक्‍टीवेट किया जा सकता है।  एक्‍टीवेट होने के बाद RDIF टैग को भी FASTag के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकता है।

NHAI के चेयरमैन ने बताया कि देश के सभी 371 राष्ट्रीय राजमार्गों पर लगे टोल नाकों को पहली अक्टूबर से FASTag आधारित कर दिया जाएगा। हर टोल नाके पर एक ऐसी लेन होगी जि सिर्फ FASTag से ही खुलेगी, जबकि अन्य लेन FASTag के साथ दूसरे पेमेंट ऑप्शन से भी काम करेगी। पहली सितंबर 2017 से FASTag के लिए डेडीकेटिड लेन हर राष्ट्रीय राजमार्ग के टोल नाके पर काम करना शुरू कर देगी।

FASTag की ऑनलाइन बिक्री को बढ़ाने के साथ इसकी ऑफलाइन बिक्री पर भी जोर दिया जा रहा है। शुक्रवार से टोल नाके के नजदीक के कॉमन सर्विस सेंटर पर यह कार्ड मिलना शुरू हो रहा है। इसके अलावा इसको जारी करने वाले बैंक की वेबसाइट, NHAI की वेबसाइट से भी इसे खरीदा जा सकता है।