अमरनाथ यात्रा के दौरान जयकारों पर NGT के रोक को VHP ने बताया तुगलकी फरमान, वापस लेने की मांग की

नई दिल्ली (13 दिसंबर): विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय कार्याध्यक्ष और राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने NGT के उस आदेश का विरोध किया है जिसमें अमरनाथ यात्रा के दौरान जयकारे, मंत्रोच्चारण और घंटी बजाने पर रोक लगाने की बात कही गई है। विश्व हिंदू परिषद इसे अपमानकारी बताते हुए इसे NGT का फतवा करार दिया है। डॉक्टर प्रवीण तोगड़िया ने कहा कि पृथ्वी पर पर्यावरण संबंधी हर समस्या का कारण हिंदू नहीं है। हमारी केंद्र सरकार से मांग है कि आए गए दिन किसी ना किसी कारण से हिंदुओं की धार्मिक श्रद्धाओं और भावनाओं को आहत करना बंद करें और राष्ट्रीय हरित प्राधिकरण ने अमरनाथ पर जारी किया तुग़लकी फरमान तुरंत वापस लें। 

आपको बता दें कि  NGT ने अमरनाथ श्राइन बोर्ड को अमरनाथ यात्रा के दौरान मंत्र और जयकारे पर रोक लगाने की बात कही है। साथ ही NGT ने कहा कि घंटी भी नहीं बजनी चाहिए और लास्ट चेक पोस्ट के बाद मोबाइल और किसी भी सामान को ले जाने की इजाजत नहीं होनी चाहिए। साथ ही NGT ने कहा है कि आखिरी चेक पोस्ट से भक्तों की सिर्फ एक लाइन ही होनी चाहिए। 

NGT ने अमरनाथ श्राइन बोर्ड को फटकार लगाते हुए पूछा कि 2012 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन क्यों नहीं हो रहा है, जिसमें क्षेत्र की सुरक्षा करने का निर्देश दिया गया था। गुफा के पास बढ़ती दुकानों और खुले में बनाए गए टॉयलेट्स को न हटाने पर भी NGT ने श्राइन बोर्ड को डांटा है।

आपको बता दें, इससे पहले 13 नवंबर को NGT ने वैष्णों देवी में दर्शन करने वाले श्रद्धालुओं की संख्या भी 50 हजार करने का निर्देश दिया था।