जश्न-ए-यंगिस्तान: 27 नवंबर को 'ओला' के फाउंडर भाविश अग्रवाल को सम्मानित करेगा 'न्यूज24'

नई दिल्ली(25 नवंबर): युवा देश का भविष्य होता है। नई और युवा सोच ही देश को आगे लेकर जाती है, आज का युवा ही न्यू इंडिया का आधार रख रहा है। ये न्यू इंडिया ही है जो विश्व में अपना प्रभाव छोड़ रहा है। विश्व आपकी ओर देख रहा है और ये मौका है सफलता का जश्न मनाने का। ऐसे में 'न्यूज 24'  27 नवंबर को जश्न-ए यंगिस्तानके जरिए देश के युवाओं को सम्मानित करेगा। इस खास कार्यक्रम में न्यूज 24 ओला कैब के फाउंडर और सीईओ  भाविश अग्रवाल को सम्मानित करेगा। 

भाविश अग्रवाल के बारे में...

भाविश अग्रवाल एक ऐसा नाम जिसकी सोच का फायदा आज देश के करोड़ों लोगों को मिल रहा है। ट्रांसपोर्ट की दुनिया में भाविश के एक कदम ने इतिहास रच दिया। आज देश के सैकड़ों शहरों में ओला कैब्स नाम से जो सर्विस चलती है। भाविश अग्रवाल उसके फाउंडर और सीईओ हैं। आईआईटी मुंबई से निकल कर 2008 में भावेश ने माइक्रोसॉफ्ट ज्वाइन की लेकिन वो 9 से 5 की नौकरी में ख़ुश नहीं थे। अगस्त 2010 में भाविश ने ओला कैब्स की शुरुआत के लिए अपनी नौकरी छोड़ दी और आज ओला कैब्स करोड़ों की कंपनी बन चुकी है। आज भले ही देश में 90 से ज्यादा शहरों में ओला कैब्स चल रही हों लेकिन कहते हैं भाविश ने आज तक अपने लिए कोई कार नहीं खरीदी क्योंकि भाविश को सबसे ज्यादा भरोसा अपनी ओला कैब पर ही है। जश्न ए यंगिस्तान में भाविश अग्रवाल को न्यूज़ 24 का सलाम।