2500 करोड़ के ड्रग रैकेट में कैसे फंसी ममता कुलकर्णी? पढ़िए, न्यूज24 से उनकी Exclusive बातचीत...

संकेत पाठक, मुंबई, (19 जून): ढाई हज़ार करोड़ के ड्रग रैकेट में पहली बार ठाणे पुलिस ने बॉलिवुड की मशहूर हीरोइन रहीं ममता कुलकर्णी का नाम लिया है। और अब पुलिस ममता के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस भेजने की भी तैयारी कर रही है। अपने ऊपर लगे आरोपों के बीच ममता कुलकर्णी पहली बार सामने आईं और न्यूज़ 24 से एक्सलूज़िव बातचीत की। इस बातचीत में ममता ने न सिर्फ अपनी सफाई पेश की है बल्कि वो ठाणे के पुलिस कमिश्नर पर गंभीर सवाल भी उठा रही हैं।

पिछले दिनों सोलापुर की एक फैक्ट्री से पकड़ी गई ढाई हज़ार करोड़ की ड्रग में ठाणे पुलिस ने सीधे ममता कुलकर्णी को आरोपी बनाया है। पुलिस ने साफ़ कर दिया कि इस रैकेट में ममता कुलकर्णी अपने पति विक्की गोस्वामी के साथ सक्रिय थी। इन आरोपों के बाद अब ममता कुलकर्णी सामने आई हैं। और न्यूज़ 24 से एक्सलूज़िव बातचीत में अपने ऊपर लगे एक-एक आरोप का जवाब दिया है। ममता कुलकर्णी ने न्यूज़ 24 रिपोर्टर संकेत पाठक से वाट्सएप पर बात की। ये बातचीत आप खुद पढ़िए-

न्यूज़ 24 का सवाल- ममता जी मैं न्यूज़ 24 चैनल मुंबई से हूं। आपको ड्रग रैकेट मामले में आरोपी बनाया गया है, उस बारे में बात करना चाहता हूं।

ममता कुलकर्णी का जवाब-  मैं बात नहीं कर सकती हूँ क्योंकि मेरे वकील ने मुझे अब मीडिया से बात करने को मना किया है। लेकिन मेरा ये बयान आप दिखा सकते हो। मैंने ठाणे पुलिस कमिश्नर के पहले के कुछ इंटरव्यू देखे थे जिसमे आप लोग मेरे बारे में पूछ रहे थे। तब उन्होंने हर सवाल पर यही कहा था कि ऐसा हो सकता है हम देख रहे है जांच करेंगे। लेकिन अब 3 हफ्ते की शांति के बाद उन्होंने मेरा नाम लिया है इसका मतलब वो इतने दिनों तक मेरे बारे सर्च कर रहे थे ताकि मुझे आरोपी बनाकर फंसा सके। कोई भी सोच सकता है कि वो 2000 करोड़ के ड्रग्स की बात कर रहे है तो मेरे पास कम से कम 20 करोड़ की FD तो मिलना चाहिए ना ? मेरे पास तो 1 करोड़ तक अकाउंट में नहीं हैं। परमवीर सिंह ने मेरे बैंक अकाउंट की जांच की और वो फ्रस्ट्रेटेड हो गए हैं क्योंकि उसमे कोई ऐसा चेक नहीं मिला जो AVON लाइफ साइंस कंपनी से गया हो या उन्होंने कोई पैसा मेरे अकाउंट में ट्रान्सफर किया हो। कोई प्रूफ नहीं मिला। मैंने सुना है कि उन्होंने आरोपियों को पीट-पीटकर मेरा नाम बुलवाया है। एक आरोपी को तो बहुत पीटा फिर भी उसने मेरा नाम नहीं लिया। क्या इंडिया में ऐसा तरीका है कि किसी को पीटकर सच निकाला जाए। ऐसे में तो ब्रूस ली तक ऐसा ही करेगा। इंडियन कोर्ट पुलिस को ऐसा कैसे करने देते हैं कि मारकर सच निकाला जाए।

इस तरह ममता कुलकर्णी ने सीधे पुलिस पर आरोप लगा दिया कि उसने ज़बर्दस्ती गवाहों को पीटकर सच उगलवाया है। इस बातचीत में ममता कुलकर्णी परमवीर सिंह का नाम लेती हैं। कहती हैं कि परमवीर सिंह फ्रस्ट्रेशन में यानी कुंठा में ये सब कर रहे हैं। आपको बता दें कि परमवीर सिंह ठाणे पुलिस कमिश्नर हैं। सुनिए, शनिवार को हुई प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने ममता कुलकर्मी पर क्या आरोप लगाया था।

ठाणे के पुलिस कमिश्नर एक मीटिंग की बात कर रहे थे। साथ ही इंटरनेशनल ड्रग स्मगलर डॉक्टर अब्दुल्ला का भी नाम लिया। परमवीर सिंह के इस बयान पर ममता कुलकर्णी ने न्यूज़ 24 से कहा-

न्यूज़ 24 का सवाल- क्या आप भारत आएंगी इस मामले को फेस करने के लिए ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- मैंने 6 वकीलों की टीम बनायी है। वो प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगे मेरे से बात करने के बाद वो जानते हैं कि परमवीर सिंह सिर्फ ये पब्लिसिटी के लिए कर रहे हैं क्योंकि वो ठाणे के बाद मुम्बई के पुलिस कमिश्नर बनना चाहते हैं, इसलिए वो और फ्रस्ट्रेटेड हो रहे हैं।

न्यूज़ 24 का सवाल- पुलिस का आरोप है कि पकडे गए आरोपियों के साथ आपने मीटिंग की थी। ये मीटिंग दुबई और केन्या में हुई थी। क्या ये सही है ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- ऐसा क्या ? 10 बार पिटने के बाद तो मैं भी बराक ओबामा का नाम ले दूंगी। इसमें कोई सेन्स है क्या ?

न्यूज़ 24 का सवाल- मगर पुलिस कह रही है कि उसके पास सबूत हैं ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- पहले उनको कोर्ट में चार्जशीट फाइल करने दो.. वो ये सब कोर्ट में क्यों नहीं दे रहे है ?

न्यूज़ 24 का सवाल- क्या आप डॉक्टर अब्दुल्ला को जानती हैं ? पुलिस का कहना है कि डॉक्टर अब्दुल्ला और विक्की गोस्वामी ड्रग रैकेट में पार्टनर हैं और अफ्रीका में ड्रग फैक्ट्री खोलने वाले थे ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- मैं ये नाम पहली बार सुन रही हूं.. सोचो कुछ चैनल एक बुड्ढे को मेरा पति बता रहे थे अब आप इस पर क्या कहोगे ?

ममता कुलकर्णी ने साफ तौर पर किसी भी डॉक्टर अब्दुल्ला नाम के शख्स को पहचानने से इनकार कर दिया.. पुलिस के मुताबिक इस डील में ममता अपने पति के साथ मुख्य भूमिका में थीं.. पुलिस के मताबिक केन्या में हुई मीटिंग में ड्रग के रेट से लेकर उसको सप्लाई करने के बारे में  तक चर्चा की गई थी.. और ये सबकुछ विक्की गोस्वामी की मौजूदगी में हुआ था.. ममता कुलकर्णी विक्की गोस्वामी की पत्नी है.. लेकिन ममता ने कभी-भी विक्की का नाम अपने पति के तौर पर नहीं लिया..

न्यूज़ 24 का सवाल- तो फिर आपका विकी गोस्वामी के साथ क्या रिश्ता है ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- हर रिश्ते का नाम होना जरूरी है क्या ? और अगर नहीं है तो क्या वो रिश्ता नहीं होता ? वो अपनी जगह है, मैं अपनी जगह.. वो अपना काम किसी से शेयर नहीं करता। जब मैंने न्यूज़ देखी तो उससे पूछा तब उसने कहा कि इससे मेरा कोई लेना देना नहीं है

न्यूज़ 24 का सवाल- क्या आपका कभी ड्रग्स से कोई लेना देना रहा है ? और पुलिस बार बार आपका नाम क्यों ले रही है ?

ममता कुलकर्णी का जवाब- कभी नहीं सोच सकती कि कुछ लोग और मीडिया ऐसा कर सकता है। कभी वो कहते हैं कि मै डीटेन हो गयी हूं कभी कहते हैं कि मैं अभी भी केन्या में हूं.

न्यूज़ 24 का सवाल- ऐसा पुलिस दावा कर रही है, हम मीडिया नहीं..

ममता कुलकर्णी का जवाब- वो कह रहे हैं कि मैं डीटेन हो गयी हूं। ये डिटेन का क्या मतलब होता है जिस देश में वो अलाउ ही नहीं है तो फिर मैं केन्या में कैसे हूं ? कल क्या आपको लग रहा था कि परमवीर कॉन्फिडेंट थे ? वो सर्च कर के बोल रहे थे बजाय किसी मतलब के..

न्यूज़ 24 से बातचीत में ममता कुलकर्णी ने विक्की गोस्वामी से रिश्तों को लेकर साफ़-साफ़ कुछ भी नहीं कहा और न ही ड्रग रैकेट में शामिल होने की बात कुबूली, लेकिन ममता कुलकर्णी को करीब से कवर करने वाले वरिष्ठ पत्रकार रामचंद्रन ने कहा कि ममता विक्की को 2 दशकों से भी ज़्यादा वक्त से जानती है।

वहीं पुलिस ने विक्की गोस्वामी के नेटवर्क के बारे में बताने के साथ ही ममता को भी आरोपी बनाने की बात की थी। ममता कुलकर्णी और विकी गोस्वामी के खिलाफ अहम सबूत मिलने के बाद अब पुलिस इन दोनों के खिलाफ रेड कॉर्नर नोटिस जारी करने की तैयारी कर रही है। तो वहीं ममता कुलकर्णी ठाणे पुलिस कमिश्नर के खिलाफ गंभीर आरोप लगा रही है।

ममता कुलकर्णी ने न्यूज़ 24 से खुलकर बात की। ममता ने ये भी कहा कि वो देश लौटना चाहती है और अपना बुढ़ापा भारत में ही काटना चाहती है। वहीं ममता कुलकर्णी ने ठाणे के पुलिस कमिश्नर पर भी कई सवाल उठाए हैं।

जो हीरोइन 90 के दशक की सुपरस्टार थी। वो हीरोइन पिछले 14 सालों से गुमनामी की जिंदगी जी रही है। वजह है एक गैंगस्टर, एक ड्रग डीलर से उसकी बेपनाह मोहब्बत। ममता कुलकर्णी को आज दुनिया ड्रग डीलर विक्की गोस्वामी की पत्नी के तौर पर जानती है लेकिन ममता ने विक्की से शादी की बात कभी नहीं कबूली। वहीं ठाणे की पुलिस ने दावा किया है कि ड्रग रैकेट मामले में बॉलीवुड से जुड़े कई लोग भी ममता कुलकर्णी से संपर्क में थे। न्यूज़ 24 ने भी ममता कुलकर्णी से बातचीत में सीधे यही सवाल किया।

न्यूज़ 24 का सवाल- पुलिस ये भी दावा कर रही है की कुछ बॉलीवुड से जुड़े लोग भी आपके संपर्क में थे इस मामले को लेकर ?

ममता कुलकर्णी--  कह रही हूँ ये परमवीर डेस्परेट हो गया है अगर मै अपना मुंह खोलूंगी तो तुम्हे समझ आएगा कि वो कैसा डेस्परेट है मगर अभी इसका सही समय नहीं है।

ममता कुलकर्णी ने सवाल का जवाब तो नहीं दिया। लेकिन ठाणे के पुलिस कमिश्नर के लिए ज़रूर कह दिया कि वो सही समय पर अपना मुंह खोलेंगी। लेकिन वरिष्ठ पत्रकार रामचंद्रन जरूर कहते हैं कि बॉलीवुड से जुड़े कई लोग ड्रग्स के धंधे में हैं।

न्यूज़ 24 से आगे बातचीत में ममता कुलकर्णी ने ठाणे के पुलिस कमिश्नर पर काफी गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने उनकी मोटी सैलरी से लेकर लाइफस्टाइल तक पर सवाल उठाए।

न्यूज़ 24 का सवाल- अब आप इस मामले में एक आरोपी हैं आपका अगला कदम क्या होगा ?

ममता कुलकर्णी- ये कमिश्नर की हाई फाई लाइफस्टाइल है जो कि सरकारी तनखा पर नहीं हो सकती।

न्यूज़ 24 का सवाल- आप उनपर गंभीर आरोप लगा रही हैं आपके पास इसका कोई सबूत है क्या ?

ममता कुलकर्णी-10 दिन पहले मुझे पता चला था की मेरे अकाउंट चेक किये गए है और उन्हें फ्रीज कर दिए जाएगा। मैंने अपने वकीलों से कहा की उन्हें जो करना है करने दीजिये मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता। मै कुछ नहीं छिपा रही हूँ। मै इस देश में पैदा हुई हूँ और अपना बुढ़ापा यहीं बिताना चाहती हूँ बजाय भागने के.. मैंने जो भी आरोप लगाये हैं कमिश्नर पर वो सबके प्रूफ हैं। लेकिन अभी नहीं बताउंगी। आप खुद जानते हैं की वहां के सरकारी ऑफिसर कितने करप्ट हैं। मुझे बताओ उनको 3 हफ्ते क्यों लगा मेरा नाम लेने में..

ममता कुलकर्णी ने इस बातचीत के दौरान ड्रग रैकेट मामले को लेकर खुलकर तो नहीं बताया लेकिन बाद में सही वक्त आने पर बोलने की बात ज़रूर की। इसके साथ ही मामले की जांच करने वाले ठाणे के पुलिस कमिश्नर को ज़रूर लपेटे में ले लिया। अब ममता कुलकर्णी के खिलाफ जल्द ही रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया जा सकता है। ताकि उसे भारत लाकर ढाई हज़ार करोड़ के रैकेट का खुलासा किया जा सके।