कहां गए स्वच्छता शुल्क के नाम पर वसूले गए 9 हजार करोड़- राजीव शुक्ला

लखनऊ (23 जनवरी): उत्तर प्रदेश चुनाव के मद्देनजर लखनऊ में न्यूज 24 ने अपने खास कार्यक्रम मंथन का आयोजन किया। इस मौके पर न्यूज 24 के मंच पर तमाम पार्टियों के बड़े नेता पहुंचे और अपनी पार्टी का पक्ष रखा। न्यूज 24 के इस कार्यक्रम में पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद राजीव शुक्ला ने भी हिस्सा लिया।

राजीव शुक्ला ने मंथन कार्यक्रम में यूपी चुनाव को लेकर खुलकर कांग्रेस का पक्ष रहा और बीजेपी पर निशाना साधा। उन्होंने मोदी सरकार और बीजेपी के 2.5 साल के विकास के तमाम दावों को आंकड़ों के जरिए आईना दिखाने की भी कोशिश की।

साथ ही उन्होंने केंद्र की महत्वाकांक्षी योजना 'स्वच्छ भारत' को लेकर भी पीएम मोदी पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता के नाम पर शुल्क वसूले जा रहे हैं और इससे अबतक 9 हजार करोड़ रुपये इकट्ठा हो गए, लेकिन ये पैसा कहां जा रहा है किसी को नहीं पता।

राजीव शुक्ला की बड़ी बातें...

- स्वच्छता शुल्क के नाम पर 9 हजार करोड़ रुपये इकट्ठा हो गए, लेकिन पैसा कहां जा रहा है

- नोटबंदी के काला धन आने वाला था, लेकिन अब कहां गया कालाधन

- आश्वासन, वादे और नारों से जनता परेशान है

- जितने वादे किए थे, उनका कोई नाम नहीं है

- कांग्रेस के समय की सभी योजनाओं को चला रहे हैं

- डॉलर का रेट मनमोहन सरकार में 55 रुपये था, लेकिन अब देख लें

- 360 बिलियन डॉलर का मुद्रा कोष छोड़कर गए थे

- सर्जिकल स्ट्राइक को लेकर राजनीति नहीं करनी चाहिए थी

- एक सिर के बदले 11 सिर लेकर आएंगे, अब कहां गए वह वादे

- आज पाकिस्तान भी हमारी ताकत नहीं मान रहा है तो हम कहां पर विश्व शक्ति बने

- अखिलेश ने विकास का काम किया, कोई इससे मना नहीं कर सकता है

- सपा से गठबंधन करना वोटों के बिखराव को रोकना है

- यूपी में जो गठबंधन हुआ उसमें प्रियंका की अहम भूमिका थी

- प्रियंका आगे किस भूमिका में आएंगी वह उनपर ही छोड़ देना चाहिए

- यूपी के चुनाव का परिणाम भी बिहार की तरह होगा