#JashneYoungistan: सामाजिक उद्यमी बिनिश देसाई को 'न्यूज24' ने सम्मानित किया

नई दिल्ली(27 नवंबर): युवा देश का भविष्य होता है। नई और युवा सोच ही देश को आगे लेकर जाती है, आज का युवा ही न्यू इंडिया का आधार रख रहा है। ये न्यू इंडिया ही है जो विश्व में अपना प्रभाव छोड़ रहा है। विश्व आपकी ओर देख रहा है और ये मौका है सफलता का जश्न मनाने का। ऐसे में 'न्यूज 24'  ने अपने खास कार्यक्रम जश्न-ए-यंगिस्तान के जरिए देश के युवाओं को सम्मानित किया। न्यूज 24 के खास कार्यक्रम जश्न-ए-यंगिस्तान में आचार्य बालकृष्ण ने सामाजिक उद्यमी बिनिश देसाई  को सम्मानित किया। 

बिनिश देसाई के बारे में...

बिनिश देसाई, यानी छोटी उम्र में बड़ा कारनामा। ये युवा भारत का वो नाम है... जिसने न्यू इंडिया के सपनों को पंख लगाए हैं। औद्योगिक कचरे के इस्तेमाल से सस्ता टॉयलेट बनाकर बिनिश ने कमाल कर दिखाया । 11 साल की उम्र में , पहली बार बिनिश के दिमाग में कचरे से ईंट बनाने का आइडिया आया था और 23 साल की उम्र में उन्होंने इसे हकीकत में बदल डाला। बिनिश ने पी-ब्लॉक ईंटों को डिजाइन किया और इससे देश भर में 1 हजार टॉयलेट बनाए हैं।  जिससे 3 हजार लोगों को फायदा पहुंचा है। अब तक 19 आविष्कार कर चुके बिनिश ने पहली शुरूआत च्युंगम और पेपर को ठोस आकार देकर की थी। खुद को सामाजिक उद्यमी मानने वाले बिनिश का सपना है कि वे कचरे के इस्तेमाल से दुनिया का सबसे सस्ता घर बनाएंऔर झुग्गी बस्तियों के लोगों की किस्मत बदल डालें। जश्न ए यंगिस्तान में बिनिश देसाई को न्यूज़ 24 का सलाम।