न्यूज 24 सर्वे: ऑड-ईवन फॉर्मूले पर दिल्ली की जनता का मूड

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (10 फरवरी): देश की राजधानी दिल्ली में एक जनवरी से पंद्रह जनवरी के बीच केजरीवाल सरकार ने प्रदूषण कम करने के लिए ऑड-ईवन फॉर्मूले का प्रयोग किया। क्या वही फॉर्मूला एक बार फिर दिल्ली की सड़कों पर आजमाया जाएगा। इसका फैसला केजरीवाल सरकार करने ही वाली है, लेकिन सरकार के उस फैसले से पहले राजधानी में गाड़ी चलाने के सम-विषम फॉर्मूले पर दिल्ली की जनता के बीच सबसे बड़ा सर्वे न्यूज़ 24-ISOMES ने किया है।

इस सर्वे में न्यूज़ 24-ISOMES ने दिल्ली के लोगों से पूछा कि...

क्या केजरीवाल सरकार ने ऑड-ईवन प्रभावी तरीके से लागू कराया था ? क्या ऑड-ईवन दो पहिया वाहनों पर भी लागू होना चाहिए ? क्या ऑड-ईवन में महिलाओं को छूट जारी रहेगी ? ऑड-ईवन नियम जारी रहा तो क्या दूसरी कार खरीदेंगे ? क्या ऑड-ईवन नियम दोबारा लागू होना चाहिए ?

देश की राजधानी का कोई हिस्सा नहीं बचा था, जहां सर्वे के लिए हर हिंदुस्तानी का चैनल ना पहुंचा हो। दिल्ली के हर हिस्से में तीन हजार लोगों से सीधे सवाल का सीधा जवाब मांगा गया।

पहला सवाल: दिल्ली की जनता से पूछा गया कि क्या ऑड-ईवन का फॉर्मूला दो पहिया वाहनों पर भी लागू होना चाहिए ?

32 फीसदी ने कहा, हां 58 फीसदी ने कहा, नहीं

दूसरा सवाल: दिल्ली की जनता से हमने पूछा ऑड-ईवन के तहत महिलाओं को छूट जारी रहनी चाहिए या नहीं ?

48 फीसदी लोगों ने कहा, हां 52 फीसदी लोगों के कहा, नहीं

तीसरा सवाल: क्या ऑड-ईवन लागू रहने के दौरान ऑटो-टैक्सी वालों ने आपसे ज्यादा पैसे लिए ?

44 फीसदी दिल्ली वाले कहते हैं, हां ज्यादा पैसे लिए गए। 56 फीसदी ने बताया, ऑड-ईवन के दौरान उनसे ऑटो-टैक्सी वालों ने ज्यादा पैसे नहीं लिए।

चौथा सवाल: क्या ऑड-ईवन जारी रहा तो आप दूसरी कार खरीदने की सोचेंगे ?

26 फीसदी लोगों ने कहा कि वो दूसरी कार खरीदने की सोचेंगे। 75 फीसदी लोगों ने सर्वे में दूसरी कार खरीदने की सोचने से भी इनकार कर दिया।

पांचवां सवाल: क्या दिल्ली में ऑड-ईवन का नियम प्रभावी तरीके से लागू हुआ ?

81 फीसदी जनता ने कहा, हां 19 फीसदी ने जवाब नहीं में दिया।

छठा सवाल: क्या दिल्ली में फिर से ऑड-ईवन का नियम लागू होना चाहिए ?

जवाब में दिल्ली की 80 फीसदी जनता कहती है हां। 20 फीसदी लोगों के मुताबिक यह दोबारा नहीं लागू होना चाहिए।