मैं खिलाड़ी हूं और जिस खेल में रहा अच्छा खेला- अखिलेश यादव

लखनऊ (23 जनवरी): उत्तर प्रदेश में चुनावी बिगुल बच चुका है। तमाम पार्टियां अपनी-अपनी जीत के दावे कर रही है। इन सबके बीच न्यूज 24 ने सूबे की जनता और नेताओं की नब्ज टटोलने के लिए लखनऊ में मंथन कार्यक्रम का आयोजन किया। इस कार्यक्रम में तमाम पार्टियों के आला नेताओं ने हिस्सा लिया। इन नेताओं ने जहां न्यूज 24 के तीखे सवालों का जवाब दिया, वहीं प्रदेश की जनता के समाने अपनी पार्टी का पक्ष भी रखा। 

इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के नए अध्यक्ष और सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव भी न्यूज 24 के इस खास कार्यक्रम में पहुंचे और परिवार, पार्टी, गठबंधन, विकास समेत तमाम मुद्दों पर खुलकर अपना पक्ष रखा।

मंथन कार्यक्रम में अखिलेश यादव ने न्यूज 24 की एडिटर इन चीफ अनुराधा प्रसाद के तमाम तीखे सवालों को जवाब दिया। उन्होंने पारिवार और पार्टी में जारी झगड़े पर कहा कि 'मैंने कभी किसी से झगड़ा नहीं किया। लेकिन मैं खिलाड़ी हूं और जिस खेल में रहा उसे अच्छा खेला'। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी नेताजी की पार्टी है और वो उन्हीं के बताए रास्ते पर चल रहे हैं। साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि मेरा 2019 के लिए कोई अपना सपना नहीं है, पार्टी का हो सकता है। नेताजी के लिए हो सकता है।

साथ ही अखिलेश यादव ने कहा कि एकबार फिर यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार बनेगी और कांग्रेस के साथ गठबंधन के बाद वो 300 से ज्यादा सीटें जीतेंगे।  उन्होंने कहा कि यूपी की जनता विकास के नाम उन्हें वोट देगी।

अखिलेश यादव की बड़ी बातें...

 

- पार्टी नेताजी की है और उन्होंने पार्टी को बनाया है

- नेताजी ने जो रास्ता दिखाया था, उसी पर चलना मेरा काम है

- फिलहाल मैं ही सपा में स्टार प्रचारक हूं, नेताजी जब चाहेंगे तब चुनाव प्रचार के लिए आएंगे

- नेता जी सबके नेता है और जिनपर वो भरोसा करते है उनकी जिम्मेदारी है कि वो नेता जी को सच बताएं

- नेताजी समाजवादी है और उन्हें नाराजगी है तो उन्होंने मंच से कहा है

- शिवपाल यादव मेरे चाचा हैं, ये रिश्ते कभी नहीं टूट सकते लेकिन मेरी भी राजनीति है। उनका सहयोग मिलेगा तो अच्छा होगा

- मैंने कभी झगड़ा नहीं किया। लेकिन मैं खिलाड़ी हूं और जिस खेल में रहा वो अच्छा खेला

- अमर सिंह हमारे चाचा हैं। वो हमें चेतावनी नहीं दे सकते, वह हमसे प्यार करेंगे

- कांग्रेस और सपा में कोई दांव-पेंच नहीं फंसा था

- लोहिया जी ने कहा था कि कांग्रेस कमजोर होगी तो समाजवादी उसका सहारा होगा

बीजेपी और पत्थर वाली पार्टी से ज्यादा सीटे लानी है ताकि दोनों मिलकर सरकार ना बना लें

- गठबंधन के बाद 300 से ज्यादा सीटें जीतेंगे

- मायावती के हाथी 9 साल से बैठे ही हैं और जो खड़े थे वो खड़े हैं

- मोदी जी के मॉडल और हमारे मॉडल से तुलना नहीं हो सकती

- मोदी का विकास हवा में दिखाई देता है, हमारा विकास जमीं पर होता है

- बीजेपी ने डिजिटल की बात की, लेकिन हमने हर घर में लैपटॉप पहुंचाया

- पिछली बार भी चुनावों से पहले न्यूज 24 पर आया और सीएम बना। इसी बार भी ऐसा ही है,  सीएम बनना तय है।