NEWS 24 Exclusive: नरसिंह यादव के खाने में मिलावट करने वाले की हुई पहचान

नई दिल्ली (26 जुलाई): नरसिंह यादव डोपिंग केस में बड़ा खुलासा हुआ है। नरसिंह के खिलाफ साजिश करने वाले की पहचान हो चुकी है। रेसलर नरसिंह के खाने में मिलावट करने वाले की कैंप के दो रसोइयों ने फोटो देखकर पहचान की है। मिलावट करने वाले लड़के को नरसिंह यादव के कमरे में भी देखा गया है।

मिली जानकारी के अनुसार, नरसिंह डोपिंग के खाने में एक अंतरराष्ट्रीय पहलवान के भाई पर दवा मिलाने का आरोप। रसोइये ने कहा कि जिस दिन नरसिंह यादव ने खाना खाया था, उस दिन इस शख्स ने उनके खाने में कुछ मिलाया था। हालांकि रसोइया यह नहीं बता सका कि उसने क्या मिलाया था।

जानकारी के अनुसार, पुलिस ने उस शख्स को पकड़ लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है। इसी के साथ यह भी खबर आ रही है कि जिन लोगों के नाम नरसिंह ने लिए हैं, उनपर भी एफआईआर दर्ज की जा सकती है।

कुछ दिन पहले तक ओलंपिक की तैयारी कर रहे रेसलर नरसिंह डोप टेस्ट में फेल होने के बाद से शॉक्ड हैं। नरसिंह यादव की रियो के लिए तैयारी तकरीबन बंद है। पूरा देश नरसिंह यादव के साथ है, लेकिन एक साज़िश ने इस पहलवान को मात दे दी।

राष्ट्रीय डोपिंग रोधी एजेंसी यानि कि नाडा के डीजी का कहना है कि नरसिंह अपनी बेगुनाही के सबूत पेश करे तो उनकी परेशानी कम हो सकती है। अगर सबूत पेश भी कर दें कि उन्हें धोखे से वो दवाई दी गई है, जिससे वो डोप में फेल हो गए हैं तो क्या नाडा अपने कानून में बदलाव करेगा। वाडा के नियमों में ऐसा कहीं नहीं लिखा कि साजिश के तहत फंसाए जाने पर कोई सजा नहीं होगी। साजिश के तहत फंसाए जाने पर सजा कम जरूर हो सकती है।

नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी यानि कि नाडा वर्ल्ड एंटी डोपिंग एजेंसी के साथ काम करती है और नाडा की हर बात वाडा मान ले इसकी संभावना भी काफी कम है। खेल मंत्री विजय गोयल भी ये साफ कर चुके हैं कि नरसिंह के साथ पूरी सहानुभूति है। लेकिन साथ ही विजय गोयल ने भी साफ कर दिया है कि हर कोई ये चाह रहा है कि नरसिंह रियो ओलंपिक जाए लेकिन वाडा का कानून आड़े आएगा तो फिर कोई कुछ नहीं कर सकता। देश की प्रतिष्ठा सबसे ऊपर है और कोई भी काम नियम के दायरे में ही हो सकता है।