शादी के छठे दिन भागी महिला, बताई ये वजह...

नई दिल्ली (24 अक्टूबर): हमारे देश में शादी को दो लोगों के बीच नहीं बल्कि दो परिवारों के बीच संबंध को जोड़कर देखा जाता है। लेकिन शादी के छठे दिन ही एक महिला फरार हो गई, जिसने दहेज और मारपीट का आरोप लगाते हुए बिना मर्जी के शादी करने का आरोप लगाया।

पुलिस की गिरफ्त में आने के बाद महिला के पति दीपक व सास उससे यही पूछते रहे कि भागना ही था तो शादी क्यों की? वहीं पिता नरेश ने आरोप लगाया कि महिला के वकील व कोर्ट समेत उसका सारा खर्च अंकित उठा रहा है, क्योंकि अंकित उक्त वकील का रिश्तेदार है।

एएसआई केवल सिंह ने बताया कि चोरी के गहनों, कीमती सामान व नकदी रिकवर होनी बाकी है। यह सामान न लौटाने पर सेशंस कोर्ट व हाईकोर्ट से रंजीता की अग्रिम जमानत रद्द हो गई थी। इसके बाद इसी महीने सुप्रीम कोर्ट में भी उसकी अग्रिम जमानत रद्द हो गई।

वकील की सलाह पर महिला डेराबस्सी कोर्ट में सरेंडर करने आई थी, जहां से सूचना मिलने पर उसे गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्होंने बताया कि रंजीता के अलावा उसके दोस्त अंकित और भाभी के भाई ओंकार को इस केस में नामजद किया गया है।

महिला 24 अप्रैल की रात अपने पति को नशीला नींबू पानी देकर ससुरालिया परिवार के गहने और नकदी फरार हो गई थी। पति दीपक के चोरीशुदा गहने व नकदी वह अपने साथी अंकित के साथ ले गई।