न्यूजीलैंड के पीएम ने इस्तीफे का ऐलान कर चौंकाया

नई दिल्ली(5 दिसंबर): न्यूजीलैंड के पीएम जॉन की ने सोमवार को पद से इस्तीफा का ऐलान कर सभी को चौंका दिया। रिपोर्टर्स से बातचीत में उन्होंने कहा, "मेरे लिए यह बहुत ही कठिन फैसला है। मैं पारिवारिक कारणों से इस्तीफा दे रहा हूं, ये एक बड़ी वजह है, लेकिन और भी कई कारण हैं। वैसे, मेरे लिए राजनीति छोड़ने का यह सही समय है।" 

- जॉन ने कहा, "मैंने अपने सबसे करीबी लोगों और अपनी फैमिली के लिए यह फैसला लिया है। मेरे बालिग हो चुके बच्चों को अपने पिता के जॉब के चलते बेहद दबाव और दखलंदाजी का सामना करना पड़ता है।" 

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक, जॉन की ने कहा- "मैं हमेशा नई प्रतिभा को आगे आते देखना चाहता हूं, इसीलिए अपने पद से इस्तीफा दे रहा हूं।"

- "मैंने अभी फ्यूचर के लिए कोई योजना नहीं बनाई है, लेकिन मेंबर ऑफ पार्लियामेंट बना रहूंगा, ताकि मेरे क्षेत्र को अगले साल होने वाले जनरल इलेक्शन से पहले चुनाव का सामना न करना पड़े।"

- "नेशनल पार्टी कॉकस 12 दिसंबर को मीटिंग करेगा, उसी दिन नए पार्टी लीडर और नए पीएम का चुनाव होगा।" माना जा रहा है कि उसी दिन जॉन ऑफिशियली अपना इस्तीफा दे देंगे।

- कहा रहा था कि जॉन अगले साल अपना चौथा जनरल इलेक्शन भी लड़ेंगे। उन्होंने कहा, "मैं चाहता था कि वह गलती न करूं जो दुनिया के बाकी नेताओं ने की, इसीलिए राजनीति में टॉप पर होने के बावजूद मैं पद छोड़ रहा हूं।"

- बता दें कि 55 साल के जॉन की 19 नवंबर 2008 को न्यूजीलैंड के 38वें पीएम चुने गए थे।

- जॉन की ने कहा, "8 साल तक काम करने के बाद यह आगे बढ़ने का बिल्‍कुल सही समय है।"

- "यह बेहद कठिन फैसला है और मुझे नहीं पता अब मैं आगे क्‍या करूंगा। पार्टी और देश का नेता रहते हुए मेरे अनुभव शानदार रहे।" 

- जॉन की ने इस्‍तीफा देते हुए इस बात की तरफ इशारा किया कि वो अब अपना वक्‍त पत्‍नी और परिवार के साथ बिताएंगे।

- कहा, "मैंने अपने सबसे करीबी लोगों और अपनी फैमिली के लिए यह फैसला लिया है। मेरे बच्चों को अपने पिता के जॉब के चलते बेहद दबाव का सामना करना पड़ा।" 

- "मैंने पिछले कई सालों से देखा है कि इस स्थिति में कई नेता हैं, जो ऐसा फैसला नहीं ले सके। मैं समझ सकता हूं यह एक कठिन काम है।"