इस तरीके से आपस में नहीं टकराएंगी ट्रेनें

नई दिल्ली (22 अगस्त): अब ट्रेनें आपस में नहीं टकराएंगी। अगर एक ही ट्रैक पर दो ट्रेनें आ गईं तो इंजन खुद ब खुद बंद हो जाएगा और करीब 200 मीटर की दूरी पर दोनों ट्रेनें रुक जाएंगी। यह संभव होगा जीपीएस आधारित टी-कैस सिस्टम से। 

अगर ट्रैक पर कोई गड़बड़ी है या कोई गाड़ी पहले से ही खड़ी है और गलती से चालक उसी ट्रैक पर ट्रेन ले जाने लगे तो सिस्टम ट्रेन की रफ्तार को काफी कम कर देगा और चालक को आगे की गड़बड़ी का संदेश भी देगा, जिससे दुर्घटना टाली जा सकेगी।

टी-कैस यानी ट्रेन कोलिजन एवाइडेंस सिस्टम में ट्रैक और इंजन में सर्किट लगाए जाते हैं। पटरियों पर लगने वाला सर्किट सभी इंजनों से जुड़ा रहेगा। यही सर्किट इंजन और डिब्बों के ब्रेक से भी जुड़ेगा। सिस्टम के प्रोग्रामिंग के अनुसार अगर एक ही ट्रैक पर दो ट्रेनें आ जाएं तो उनके इंजन खुद ही बंद हो जाएंगे और ट्रेन रुक जाएगी।