Blog single photo

'अब सुरक्षाबलों के काफिले नजदीक जो आया वो मारा जायेगा'

पुलवामा में जैसे आत्मघाती हमलों की पुनरावृत्ति न हो, इसलिए सुरक्षा बलों के मूवमेंट पर सरकार ने एक बार फिर से नये नियम लागू कर दिये हैं। अब सुरक्षाबलों का काफिला बिना रुके चलेगा। काफिले को ओवर टेक करने या काफिले के नजदीक आने वाले किसी भी वाहन या व्यक्ति को दुश्मन माना जायेगा और उसे बिना किसी चेतावनी के उड़ा दिया जायेगा

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 फरवरी): पुलवामा में जैसे आत्मघाती हमलों की पुनरावृत्ति न हो, इसलिए  सुरक्षा बलों के मूवमेंट पर सरकार ने एक बार फिर से नये नियम लागू कर दिये हैं। अब सुरक्षाबलों का काफिला बिना रुके चलेगा। काफिले को ओवर टेक करने या काफिले के नजदीक आने वाले किसी भी वाहन या व्यक्ति को दुश्मन माना जायेगा और उसे बिना किसी चेतावनी के उड़ा दिया जायेगा। सुरक्षाबलों के काफिले के वाहनों पर लाल झण्डा लगा होगा। 

इसका मतलब यह होगा कि लाल झण्डा गे वाहनों को न तो ओवर टेक किया जा सकेगा और न ही उनके बराबर से गुजरा जा सकेगा। सुरक्षाबलों के मूवमेंट के दौरान दोनों ओर का 'ट्रैफिक जहां है-जैसे ही' के आधार पर रोक दिया जायेगा। ट्रैफिक को रोकने कि जिम्मेदारी सिविल पुलिस की रहेगा। सुरक्षाबलों के काफिले के आगे आरओपी (रोड ओपनिंग पार्टी) चलेगी। काफिले के आगे-पीछे और बीच में सुरक्षा दस्ते रहेंगे। इन दस्तों को स्पष्ट निर्देश होंगे कि अगर कोई भी वाहन या व्यक्ति काफिले की ओर बढ़ता दिखाई दे उसे दूर से ही मार गिराया जाये। स्थानीय प्रशासन की जिम्मेदारी होगी कि वो इन नये नियमों की जानकारी आम लोगों को दे। क्यों कि नये एसओपी के बाद यदि सुरक्षाबलों के काफिले के नजदीक आने की कोशिश करेगा तो उसे दुश्मन माना जायेगा और बिना चेतावनी मार गिराया जायेगा।

सुरक्षाबलों के मूवमेंट को लेकर पहले जो नियम थे उसके अनुसार काफिला गुजरते वक्त हाईवे पर सिविलियन वाहनों की आवाजाही पर रोक थी। लेकिन बाद में जनता के दबाव में इस नियम को खत्म कर दिया गया था। अब पुलवामा हमले के बाद एक बार फिर नियमों की समीक्षा कर फौज की मूवमेंट को लेकर नया एसओपी तैयार किया गया है।

NEXT STORY
Top