GST: आज से सस्ता हुआ बाहर खाना, ये 211 चीजें हुईं सस्ती

नई दिल्ली ( 15 नवंबर ): 15 नवंबर बुद्धवार यानी आजा से 211 कैटेगरी की वस्तुएं सस्ती हो गई हैं। अब आपको रेस्टोरेंट के बिल पर सिर्फ 5% टैक्स देना होगा। अभी तक एसी रेस्टोरेंट के लिए 18% और नॉन-एसी के लिए 12% टैक्स लगता था।

मोदी सरकार ने 10 नवंबर को जीएसटी के दरों में सबसे बड़ा बदलाव किया था। इससे पहले 228 कैटेगरी की चीजों पर 28% टैक्स था। इनमें से 178 पर टैक्स 18% कर दिया गया। यानी अब सिर्फ 50 सामानों पर 28% टैक्स लगेगा। जीएसटी काउंसिल ने इन्हें 15 नवंबर से लागू करने का फैसला किया था।

आज से ये वस्तुएं हो गईं सस्ती? इन चीजों पर 28% की जगह 18% टैक्स लगेगा खाने-पीने का सामान- न्यूट्रिशन ड्रिंक्स, च्यूइंगगम, चॉकलेट, कोको युक्त खाद्य पदार्थ, इंस्टेंट कॉफी। कॉस्मेटिक्स- मेकअप के सामान, पाउडर, शेविंग क्रीम, आफ्टर शेव, डियोड्रेंट, परफ्यूम, शैम्पू, हेयर क्रीम/ कलर/डाई, हिना पाउडर। निजी प्रयोग की वस्तुएं- शैम्पू, शू पॉलिश, रेजर, ब्लेड, रूम फ्रेशनर, लाइटर, घड़ी व इसके केस/स्ट्रैप/ पार्ट्स, लेदर कपड़े, लेदर गुड्स, आर्टिफिशियल फर से बनी चीजें, गॉगल्स और पटाखे। घरेलू चीजें- डिटरजेंट, लिक्विड सोप, फ्लास्क, फोटो फ्रेम, ब्रीफकेस, बैग, वॉलेट, ज्वैलरी बॉक्स, कटलरी, कुकर, नॉन-इलेक्ट्रिक अप्लायंस, किचनवेयर, पार्टिकल बोर्ड, प्लाइवुड, लकड़ी के फ्रेम। घर सजाने का सामान- आईना, सेफ्टी ग्लास, कांच की बनी अन्य चीजें, कृत्रिम फूल, बांस के अलावा अन्य फर्नीचर, स्प्रिंग वाले गद्दे और मैट्रेस, बेडिंग। बिजली के सामान- स्विच, सर्किट, फ्यूज, प्लग, सॉकेट, तार, बोर्ड, कंसोल, पंखे, पंप, कम्प्रेशर, लैम्प, लाइट, बैटरी।

इन चीजों पर घटा टैक्स 13 चीजों पर 18% की जगह 12% टैक्स -कंडेंस्ड मिल्क, शुगर क्यूब, पास्ता, करी पेस्ट, डायबिटीक फूड, स्याही, हैट, जूट और कॉटन के बैग, सिलाई मशीन के पार्ट्स, चश्मे के फ्रेम, बांस या केन के फर्नीचर। 8 पर 12% की जगह 5% टैक्स: - गरी, इडली- डोसा के घोल, फिनिश्ड लेदर, कॉयर प्रोडक्ट, फ्लाई एश की ईंट। 6 पर 5% की जगह 0% टैक्स - खांडसारी, ग्वार मील, मीठा आलू जैसी सूखी सब्जियां, नारियल छिलका, सूखी और फ्रोजन मछली। फूड पार्सल पर 5% टैक्स। 6 पर 18% की जगह 5% टैक्स - चिक्की, रेवड़ी, खाजा, चटनी पाउडर, फ्लाई एश। संरक्षित स्मारकों के टिकट पर टैक्स खत्म कर दिया गया है। घर बनाने के सामान पर टैक्स 28% से घटकर 18% हुआ - घर बनाने के सामान पर टैक्स 28% से घटकर 18% हुआ प्लास्टिक के बने फ्लोर कवर, बाथ/शॉवर फिटिंग्स, सिंक, वॉश बेसिन, लेवेटरी पैन-सीट-कवर, फ्लशिंग सिस्टर्न। सेरेमिक फ्लोरिंग/ टाइल्स, सेरेमिक से बने सिंक, वॉश बेसिन और अन्य बाथ फिटिंग्स। ग्रेनाइट एवं मार्बल, प्लास्टर या इसके मिश्रण से बनी चीजें/टाइल्स, लोहे या स्टील के बने सेनेटरी सामान, दरवाजे, खिड़की एवं इनके फ्रेम, तांबा-एल्युमिनियम के बने सामान (बर्तन छोड़कर), नेम/साइन प्लेट, फर्नीचर/फ्लोर पॉलिश, वाल पेपर/कवरिंग।

इंडस्ट्री के इस्तेमाल की इन चीजों पर भी 28% की जगह 18% टैक्स -वजन तौलने की इलेक्ट्रिक या इलेक्ट्रॉनिक मशीन, आग बुझाने की मशीन, फोर्क लिफ्ट, बुलडोजर, लोडर, रोड रोलर, अर्थ मूवर, एस्केलेटर, कूलिंट टावर, रिएक्टर, म्यूजिकल इंस्ट्रूमेंट, रबर ट्यूब, सॉल्वेंट, थिनर।

कारोबारी: 2% से घटाकर टैक्स 1% - कंपोजीशन मैन्युफैक्चरर के लिए टैक्स 2% से घटाकर 1% किया गया है। ट्रेडर्स के लिए 1% टैक्स में बदलाव नहीं। टर्नओवर में टैक्सेबल और नॉन-टैक्सेबल दोनों वस्तुएं शामिल होंगी, पर टैक्स सिर्फ टैक्सेबल गुड्स पर देना पड़ेगा।

सभी तरह के रेस्टोरेंट्स में अब खाने पर केवल 5 फीसदी ही जीएसटी लगेगा।