क्रैश टेस्ट में नई टोयोटा फॉर्च्यूनर को मिली 5 स्टार रेटिंग

नई टोयोटा फॉर्च्यूनर को न्यू कार एसेस्समेंट प्रोग्राम (एनसीएपी) के तहत हुए क्रैश टेस्ट में 5-स्टार सेफ्टी रेटिंग मिली है। यह सेफ्टी टेस्ट लैटिन देशों के लिए किया गया था। भारत के संबंध में यह इसलिए खास है क्योंकि नई फॉर्च्यूनर के यहां 2017 तक आने की उम्मीद है। इंडोनेशिया में फॉर्च्यूनर का यह मॉडल पहले ही बिक्री के लिए उपलब्ध है।

टोयोटा के पिकअप ट्रक हिल्क्स को भी इसी टेस्ट में 5 स्टार रैंकिंग मिली थी। टेस्ट में उतरे हिल्क्स में ड्यूल फ्रंट और ड्राइवर नी (घुटने) एयरबैग के साथ एबीएस भी मौजूद था। माना जा रहा है कि टेस्ट में उतारी गई फॉर्च्यूनर में भी यही सेफ्टी फीचर्स मौजूद होंगे। हिल्क्स को अडल्ट और चाइल्ड प्रोटेक्शन सहित दोनों टेस्ट में 5 स्टार मिले हैं। हाल ही में होंडा बीआर-वी को भी एनसीएपी साउथ-ईस्ट एशियन कंट्री क्रैश टेस्ट में 5 स्टार रैंकिंग मिली थी।

भारत में उतारे जाने वाली नई फॉर्च्यूनर की बात करें तो इसे 2.4 लीटर और 2.8 लीटर डीज़ल इंजन के साथ उतारा जाएगा। उम्मीद है कि पहला इंजन 160 बीएचपी की पावर के साथ 400 एनएम का टॉर्क और दूसरा इंजन 177 बीएचपी पावर के साथ 450 एनएम टॉर्क देगा। इन दोनों के साथ 6-स्पीड मैनुअल और 6-स्पीड ऑटोमैटिक गियरबॉक्स मिलेंगे। वैसे तो यह आंकड़े काफी प्रभावित करने वाले हैं लेकिन प्रतियोगिता में मौजूद शेवरले ट्रेलब्लेज़र और नई फोर्ड एंडेवर से कम हैं। यह दोनों एसयूवी 200 बीएचपी की ताकत देती हैं।

कारों में इन दिनों सेफ्टी रैंकिंग की अहमियत बढ़ती जा रही है। हाल ही में ग्लोबल एनसीएपी ने सेफ्टी रेटिंग में जीरो अंक हासिल करने वाली कारों पर चिंता जताते हुए कंपनियों से अपील की थी कि 2020 तक इस स्थिति तो सुधारा जाए। भारत सरकार भी कार दुर्घटनाओं में बढ़ती मौतों के मामलों से चिंता में है। यहां भी कारों में सुरक्षा के मामले पर गंभीरता बढ़ रही है।

कारदेखो

क्रैश टेस्ट में नई टोयोटा फॉर्च्यूनर को मिली 5 स्टार रेटिंग