जिन्ना की मजार पर लगा नया चीनी झूमर, चीन के राष्ट्रपति ने यह कहा

नई दिल्ली ( 18 दिसंबर ): चीन और पाकिस्तान की दोस्ती के नमूने के तौर चीन की ओर से पाकिस्तान को एक नया झूमर दिया गया है, जो मुहम्मद अली जिन्ना के मकबरे में लगाया जाएगा। यह पुराने झूमर की जगह लेगा, जिसे चीन ने 46 साल पहले दिया था। चीन के राष्ट्रपति ने इस तोहफे को सदाबहार साझेदारी का प्रतीक बताया है। पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने शनिवार इस भव्य झूमर का अनावरण किया। इसे अत्याधुनिक थ्रीडी स्कैनिंग टेक्नॉलजी से बनाया गया है। चीनी राष्ट्रपति शी ने पाक समकक्ष को अपने संदेश में कहा है कि विशाल झूमर दोनों देशों के बीच पीढ़ी दर पीढ़ी की दोस्ती का एक अहम प्रतीक बनेगा। ममनून ने कहा कि यह झूमर करीबी संबंधों का एक सुंदर प्रतीक है।

यह नया झूमर कराची में कायदए-ए-आजम मुहम्मद अली जिन्ना के मकबरे ‘मजार-ए-कायद’ पर लगाया गया है। इस झूमर को 46 साल पहले चीन द्वारा पाकिस्तान को भेंटस्वरूप दिए गए झूमर के बदले लगाया गया है। जिन्ना, पाकिस्तान के संस्थापक थे। चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने शनिवार को पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन को दिए बधाई संदेश में कहा कि यह विशाल झूमर दोनों देशों की दोस्ती का प्रतीक है।

उन्होंने कहा कि चीन, पाकिस्तान दोस्ती से न सिर्फ दोनों देशों एवं लोगों के मौलिक हितों को लाभ होगा, बल्कि क्षेत्र में शांति एवं विकास में भी मददगार होगा। शी ने कहा कि वह चीन और पाकिस्तान संबंधों को महत्व देते हैं और उन्हें आगामी विकास के लिए रणनीतिक सहयोग भागीदारी को मजबूत करने के लिए पाकिस्तान नेता के साथ मिलकर काम करने की उम्मीद है।