बच्चा क्यों रो रहा है बताएगा ये ऐप

नई दिल्ली(2 जनवरी): पहली बार माता-पिता बने लोग कई बार ये नहीं पता लगा पाते हैं कि आखिर उनका बच्च क्यों रो रहा है। उनकी इस समस्या का समाधान निकाला है एक रिसर्च टीम ने।

रिसर्चर्स की एक टीम ने ऐसा स्मार्टफोन ऐप डिवेलप किया है, जो यह डीकोड कर सकता है कि बच्चे के रोने की आवाज़ का मतलब क्या है। नैशनल ताइवान यूनिवर्सिटी हॉस्पिटल यूनलिन द्वारा बनाए गए इस ऐप का नाम 'The Infant Cries Translator' (बच्चों के रोने का अनुवाद करने वाला) रखा गया है। दावा किया गया है कि यह ऐप बच्चे के रोने के अलग-अलग तरीकों को पहचान सकता है। बच्चे के रोने की आवाज को एक बड़े डेटाबेस के साथ मैच किया जाता है, जिसके नतीजों के आधार पर बताया जाता है कि वह क्यों रो रहा है। 

जब बच्चा रोता है, तब इस ऐप का रेकॉर्डिंग बटन 10 सेकंड तक पुश करना होता है। इसके बाद साउंड क्लाउड ड्राइव पर अपलोड हो जाएगा। कई तरह की प्रक्रियाओं से गुजरने के बाद यह ऐप 15 सेकंड्स में चेक करता है कि इसका रिजल्ट क्या है और उसे यूजर के मोबाइल फोन पर भेज देता है। इस ऐप को बनाने के लिए रीसर्चर्स ने 100 नवजात शिशुओं के रोने की 2 लाख रेकॉर्डिंग्स इकट्ठी की हैं। 

अंग्रेजी अखबार डेली मेल के मुताबिक एक रीसर्चर ने बताया, 'यह ट्रांसलेटर बच्चों के रोने के 4 तरह के अलग साउंड्स पहचान सकता है। यह बता सकता है कि बच्चा भूख, नींद, दर्द या डायपर गीला होने में से कौन सी वजह से हो रहा है।'

डिवेलपर्स ने दावा किया है कि अभी तक यूजर्स से मिले फीडबैक के मुताबिक 2 हफ्तों से कम उम्र के बच्चों पर यह ऐप 92 फीसदी सही रहा है। बच्चा जैसे-जैसे बड़ा होता है, इस ऐप की सटीकता कम होती जाती है। रीसर्चर्स का मानना है कि 6 महीने से कम उम्र के बच्चों के लिए ही यह ऐप सही है। 

इस ऐप को ऐपल प्ले स्टोर और गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है।