'नेपाली कांग्रेस के सहयोग से चलेगा मधेसियों का आंदोलन'

नई दिल्ली (25 मई): नेपाली कॉंग्रेस के नेता बिमलेन्द्र निधि ने प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली के रवैये की आलोचना करते हुए कहा कि वो अपनी जिद के आगे देश का हित भूल रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश और जनता के हित को देखते हुए उनकी पार्टी शीघ्र ही मधेसी और जनजातीय पार्टियों के संयुक्त मोर्चा फेडरल एलायंस में शीघ्र ही शामिल होगी। उन्होंने यह भी कहा कि फेडरल एलायंस के विरोध प्रदर्शन में भी नेपाली कॉंग्रेस का सहयोग रहेगा।

बिमलेन्द्र निधि ने कहा कि नेपाल के नये संविधान में कुछ कमियां जिनको संशोधित किये जाने की आवश्यकता है। उधर, सिंह दरबार में आयोजित सर्वदलीय मीटिंग में प्रधानमंत्री केपी शर्मा के मधेस समस्या पर दिये बयान को नेपाली कॉंग्रेस ने भड़काऊ कार्रवाई करार दिया है।

नेपाली कॉंग्रेस के नेता महेश आचार्या ने कहा कि सरकार को ऐसी कोई भी बैठक बुलाने से अनौपचारिक वार्ता कर लेनी चाहिए ताकि कोई भ्रम की स्थिति उत्पन्न न हो। उधर संयुक्त लोकतांत्रिक मधेसी मोर्चा और संघीय समाजवादी फोरम के चेयरमैन उपेन्द्र यादव के बयानों में कुछ मतभेद सामने आये हैं।

हालांकि संघीय समाजवादी फोरम संयुक्त लोकतांत्रिक मधेस मोर्चा का ही एक घटक है। संयुक्त लोकतांत्रिक मधेसी मोर्चा के नेता राजेन्द्र महतो कहते हैं कि वो संविधान में संशोधन की मांग कर रहे हैं, जबकि संघीय समाजवादी फोरम के चेयरमैन उपेन्द्र यादव का कहना है वो संविधान को फिर से लिखे जाने का लिखित पत्र मिलने पर ही अपना आंदोलन खत्म करेंगे।