लॉर्ड्स में नेपाल ने खेला अपना पहला मैच, हासिल की रोमांचक जीत

नई दिल्ली(20 जुलाई): क्रिकेट वर्ल्ड में नेपाल की कोई खास हैसियत नहीं मानी जाती लेकिन यह टीम उन टीमों में शामिल है जो तेजी से अपने खेल में सुधार करते हुए आगे बढ़ रही है।

भारत के इस पड़ोसी देश में क्रिकेट अपना प्रसार तेजी से कर रहा है। और इसका असर दिख भी रहा है। नेपाल की टीम इस समय इंग्लैंड में है और क्रिकेट के मक्का कहे जाने वाले लॉर्ड्स के मैदान पर मंगलवार को उसने अपना पहला मैच खेला।

खास बात यह रही कि नेपाल की टीम ने यह मैच बेहद आसानी से जीत भी लिया। अब आप सोच रहे होंगे कि नेपाल की टीम इंग्लैंड में क्या कर रही है। इंग्लैंड और नेपाल के बीच संबंधों के 200 साल पूरे होने पर यह मैच खेला गया था जिसमें नेपाल की टीम मैच जीत गई।

लॉर्ड्स में नेपाल एकादश और एमसीसी एकादश के बीच एकदिवसीय मैच खेला गया जिसमें एशियाई टीम 41 रन के बड़े अंतर से मैच जीत गई। नेपाल की अगुवाई पारस खाडका कर रहे थे। यह मैच देखने के लिए लगभग 5 हजार दर्शक मौजूद थे।

टॉस जीतकर नेपाल ने पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया और उसके एक-एक रन पर दर्शकों ने ताली बजाकर खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाया। नेपाल ने 50 ओवर में 8 विकेट पर 218 रन बनाए तो मेजबान टीम (एमसीसी एकादश) इतने ही ओवर में 7 विकेट पर 176 रन ही बना सकी।

एमसीसी टीम के ओपनर जॉर्ज एडेर ने शतक लगाकर नेपाल को परेशान करने की कोशिश की, लेकिन दूसरे छोर पर बाकी बल्लेबाज कुछ खास नहीं कर सके और टीम को हार का सामना करना पड़ा। एडेर आठवें नंबर पर आउट हुए और जब वह आउट हुए तो टीम को जीत के लिए 2 रन प्रति ओवर के हिसाब से चाहिए थे लेकिन हासिल नहीं कर सकी।

यह ऐतिहासिक मैच ब्रिटेन और नेपाल के बीच रिश्तों के 200 साल पूरे होने पर आयोजित किया गया था। साथ ही इस मैच के पीछे का मकसद पिछले साल आए भूकंस से तबाह हुए नेपाल के पुनर्निर्माण के लिए धनराशि भी जुटाना था।