भारत और चीन के बीच गतिशील सेतु बनना चाहता है नेपाल

नई दिल्ली (17अक्टूबर): भारत और चीन के बीच ‘गतिशील सेतु’ के तौर पर नेपाल को पेश करते हुए प्रधानमंत्री प्रचंड ने भारतीय समकक्ष नरेंद्र मोदी और चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ बैठक के दौरान त्रिपक्षीय रणनीतिक भागीदारी का प्रस्ताव पेश किया।

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन से इतर कल त्रिपक्षीय बैठक के दौरान पुष्प कमल दहल ‘प्रचंड’ ने दोनों एशियाई शक्तियों के बीच ‘गतिशील सेतु’ बनने की नेपाल की इच्छा जतायी और इस तरह की भूमिका का लाभ उठाने का इजहार किया। हिमालयन टाइम्स ने फोटो के साथ बैठक से जुड़ी खबर प्रकाशित की।

रिपोर्ट में कहा गया है कि प्रचंड ने ‘‘तीनों देशों के बीच त्रिपक्षीय रणनीतिक भागीदारी का प्रस्ताव पेश किया’’ जिसे मोदी और शी ने ‘महत्वपूर्ण’ मानते हुए कहा कि वो इसके प्रति सकारात्मक हैं। प्रधानमंत्री के निजी वेबसाइट पर उनके सचिवालय द्वारा जारी वक्तव्य का हवाला देते हुए अखबार ने यह रिपोर्ट प्रकाशित की है।