सात दिनों के भीतर सभी दल मिलकर चुनें नया प्रधानमंत्री-भण्डारी

नई दिल्ली (26 मई): नेपाल की राष्ट्रपति विद्या देवी भंडारी ने सभी राजनीतिक दलों से आह्वान किया कि वे 7 दिन के भीतर सर्वसम्मति से नए प्रधानमंत्री का चुनाव करें। एक दिन पहले ही पुष्प कमल दहल प्रचंड ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दिया है। राष्ट्रपति ने प्रचंड का इस्तीफा स्वीकार कर लिया और उनसे कहा कि अगला प्रधानमंत्री बनने तक वह कार्यवाहक प्रधानमंत्री के तौर पर काम करते रहें।

विद्या देवी ने संसद में मौजूद सभी राजनीतिक दलों से आह्वान किया कि वे प्रधानमंत्री और उसके तहत मंत्री परिषद का चुनाव करें। प्रचंड ने अपनी पार्टी और नेपाली कांग्रेस के बीच सत्ता साझेदारी को लेकर बनी सहमति का सम्मान करते हुए इस्तीफा दे दिया। वह नौ महीने तक इस पद पर रहे। अब नेपाली कांग्रेस देश का नेतृत्व करेगी।

प्रचंड के इस्तीफे के बाद अब नेपाली कांग्रेस के अध्यक्ष शेर बहादुर देउबा के प्रधानमंत्री बनने की संभावना है। देउबा के प्रधानमंत्री बनने की पुष्टि संसद में अगले 10 दिन के भीतर हो सकती है। सत्तारुढ़ दलों नेपाली कांग्रेस और प्रचंड की पार्टी सीपीएन (माओवादी केंद्र) के बीच सहमति बनी थी कि प्रचंड शीर्ष पद से इस्तीफा देंगे, जिससे एनसी अध्यक्ष का गठबंधन सरकार का नेतृत्व करने का मार्ग प्रशस्त होगा। सहमति के अनुसार फरवरी 2018 में संसद के चुनाव होने तक दोनों दल बारी-बारी से सरकार का नेतृत्व करेंगे।