प्रचंड ने मधेशियों को दी धमकी, चुनाव बहिष्कार की भारी कीमत चुकानी पड़ेगी

नई दिल्ली ( 22 अप्रैल ): नेपाल के प्रधानमंत्री प्रचंड ने शुक्रवार को मधेशियो को चेतावनी देते हुए कहा कि मधेशी-केंद्रीय दलों ने यदि 14 मई को होने वाले स्थानीय निकाय चुनाव में भाग लेने संबंधी सरकारी अपील को खारिज किया तो उन्हें ‘भारी कीमत’ चुकानी पड़ेगी।


माओवादी पार्टी के अध्यक्ष प्रचंड ने कहा, 'मधेशी-केंद्रित सात दलों के गठबंधन, संयुक्त लोकतांत्रिक मधेशी मोर्चा की मांगों पर सरकार ने सबसे नरम रवैया अपनाया है, ताकि वह चुनाव प्रक्रिया में भाग ले सकें।' वह झापा के बिरतामोड में सीपीएन (माओवादी) की ओर से आयोजित चुनाव रैली को संबोधित कर रहे थे।


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 'प्रधानमंत्री ने कहा, यदि गठबंधन स्थानीय चुनाव में शामिल होने के सरकार के अनुरोध को खारिज करता है तो उसे इसकी भारी कीमत चुकानी होगी।'


प्रधानमंत्री ने कहा कि वह विरोध कर रहे मधेशियों को चुनाव में भाग लेने के लिए राजी करने का प्रयास करेंगे। प्रचंड ने कहा, 'यदि मोर्चे के नेता स्थानीय चुनाव में भाग लेने से इनकार करते हैं तो, फैसले से उन्हें और उनकी छवि को नुकसान ही पहुंचेगा।